रक्तदान शिविर लगा 7 साल से लोगों को दे रहे नया जीवन रोडवेज मैकेनिक तसवीर

जागरणसंवाददाता,रोहतक:

कुछलोगोंमेंसमाजकीसेवाकरनेकाजज्बाहोताहैजबकिकुछलोगएककदमआगेबढ़करलोगोंकोनयाजीवनदेनेकाकार्यभीकररहेहैं।सांघीगांवनिवासीतसवीरहुड्डाहीव्यक्तिहैं।वेपिछले7सालसेरक्तदानशिविरलगाकरलोगोंकोनयाजीवनदेनेकाकार्यकररहेहैं।केवलरोहतकहीनहींवेरोहतककेबाहरभीरक्तदानशिविरोंकाआयोजनकररहेहैं।उन्होंनेअबतक129रक्तदानशिविरलगादिएहैं।जिनमें12हजारसेभीअधिकयूनिटरक्तपीजीआइब्लडबैंकमेंएकत्रितकियाजाचुकाहै।मांदानोदेवीट्रस्टसांघीकीओरसेयहरक्तदानशिविरलगाएजारहेहैं।उन्होंनेसबसेपहलेउसवक्तरक्तदानकियाथाजब1989मेंगांवकेएकयुवककाखेतमेंकामकरतेवक्तमशीनमेंआनेसेहाथकटगयाथा।उससमयउन्होंनेरक्तदानकामहत्वसमझाऔरतभीसेरक्तदानकरतेआरहेहैं।जुलाई2011मेंबनायाथाट्रस्ट:

तसवीरकोरक्तदानकरनेकाजुनूनथाऔरवेरक्तदानशिविरलगालगानाचाहतेथे।बिनाकिसीसंगठनकेवेरक्तदानशिविरनहींलगासकतेथे।ऐसेमेंउन्होंनेजुलाई2011मेंमांदानोदेवीट्रस्टकीस्थापनाकी।तभीसेहीवेरोहतकबसस्टैंडवअन्यस्थानोंपररेडक्रासवपीजीआइकेडाक्टरोंकेसहयोगसेरक्तदानशिविरलगारहेहैं।पूरापरिवारकरताहैरक्तदान:

रोडवेजकेरोहतकडिपोमेंमैकेनिककेपदपरकार्यरततसवीरकापूरापरिवाररक्तदानकरताहै।ट्रस्टकेसंस्थापकतसवीर60सेअधिकबाररक्तदानकरचुकेहैं।तस्वीरजहां1989सेरक्तदानकररहेहैंवहींउनकेपत्नीशीला1992सेरक्तदानकररहीहै।उनकेदोबेटोंनवीनवनवनीतभीरक्तदानकररहेहैं।17जनवरीकोभीएकऔररक्तदानशिविरलगायाजाएगा।राज्यपालसेभीहुएसम्मानित:

ट्रस्टकेसंस्थापकतस्वीरहुड्डाकेस्वास्थ्यकेक्षेत्रमेंकिएजारहेसामाजिककार्योकेचलतेवर्ष2017मेंवेप्रदेशकेराज्यपालसेभीसम्मानितहोचुकेहैं।वहींजिलाउपायुक्तडा.यशगर्ग,रेडक्राससचिवदेवेंद्रचहलकेअलावासाधुसंतोंनेभीउनकोंअनेकबारसम्मानितकियाहै।