रजाई के लिए इस बार अधिक ढीली करनी होगी जेब

जागरणसंवाददाता,अंबाला:मौसममेंबदलावकाअसरदिखनेलगाहै।सुबहऔरशामकेसमयठंडकाअहसासहोताहै।लोगरजाई-कंबलोंकोनिकालकरधूपमेंसूखानेलगेहैं।वहींबाजारमेंभीरजाईऔरकंबलकीदुकानोंपरग्राहकपहुंचनेलगेहैं।रजाईकीनएसिरेसेभराईकाभीकामचलपड़ाहै।बाजारमेंरजाईऔरगद्देतैयारकरनेवालीफैक्ट्रियोंमेंकारीगरदिन-रातजुटेहैं।लोगोंनेठंडकीदस्तककोदेखतेहुएपुरानीरजाईकीदोभराई,तगाईकेअलावागरमचादरेंखरीदनाशुरूकरदियाहै।रुईकेदामभीइसबारबढ़गएहैं।रूईपिछलेठंडमें100रुपयेकिलोबिकीथीवहइसबार120रुपएकेभावसेबाजारमेंबिकरहीहै।

फाइवररुईकीबढ़ीडिमांड

इसबारठंडदूरभगानेकेलिएपहलेसेरजाईऔरगद्देबनवानेमेंलगेलोगफाइवरवालीरूईकीमांगकररहेहैं।यहरूई120थी,लेकिनइसबारलॉकडाउनकेबादसेइसकेदाममेंइजाफाहुआहैऔरवह140रुपयेप्रतिकिलोकेभावसेबिकरहीहै।

बाजारमेंजयपुरीकंबल

छावनीकेबाजारमेंअभीसेजयपुरीरजाईआचुकीहै।आकर्षकडिजाइनोंमेंरजाईबाजारमेंहैं।बच्चोंकीपंसदवालेकार्टूनसेलेकरअलग-अलगतरहकेडिजाइनकीरजाइयांभीबाजारमेंआईहै।

गर्मचादरोंकेदामनहींबढ़े

अनाजमंडीमेंरजाईऔरगद्देकीदुकानसंचालितकरनेवालेअमितअग्रवालनेबतायाकिइसबारगर्मबेडशीटकेदाममेंकोईइजाफानहींहुआहै।इसीतरहबाजारमेंआनेवालोंकोपुरानेरेटमेंरजाईऔरगद्देतैयारकरकेदिएजारहेहैं।कपिलसिघलनेबतायाकिइसबारतोरजाईऔरगद्देकेलिएलोगफाइवररूईकीडिमांडकररहेहैंऔरयहरूईपहलेसेकरीब20रुपयेकिलोअधिकरेटमेंमिलरहाहै।