राजनीति भी सच्चाई व सुचिता के साथ संभव: डॉ. अखिलेश

अररिया।बिहारपुलिससेवाकीप्रतिष्ठितडीएसपीकेपदकोत्यागकरसमाजमेंबदलावलानेकेसपनेकेसहारेयादवबहुलनरपतगंजविधानसभासेतालठोकचुकेडॉ.अखिलेशकुमारअपनेक्षेत्रमेंलोगोंसेताबड़तोड़जनसंपर्ककररहेहै।डॉ.कुमारकामाननाहैकिसच्चाईवसुचिताकेसाथराजनीतिभीसंभवहै।वेक्षेत्रकेछात्र,युवाएवंकिसानोंकेलगातारबनेरहतेहैं।वे।गौरतलबहैकिनरपतगंजकेभंगहीपंचायतअंतर्गतमिल्कीडुमरियागांवकेनिवासीसेवानिवृत्तशिक्षकमीतलालयादवकेपुत्रडॉअखिलेशशुरूसेहीअत्यंतमेधावी,कठोरपरिश्रमीएवं²ढ़निश्चयीस्वभावकेहैं।लीकसेहटकरचलनाएवंजीनाउन्हेंबहुतभाताहै।अपनेजीवनमेअबतककेसफरमेंउन्होंनेहमेशासंघर्षकारास्ताहीचुनाहै।जवाहरनवोदयविद्यालयपूर्णियासेसाइंससे12वींपासकरनेकेबादउन्होंनेग्रेजुएशन,मास्टर्स,एमफिलएवंपीएचडी(डॉक्टरेट)किया।वहींजवाहरनवोदयविद्यालयमेंछठीकक्षामेंनामांकनउपरांतसेडॉक्टरेटकीडिग्रीतककीपढ़ाईपारिवारसेआर्थिकसहयोगलिएबिनास्वयंकेबूतेपूराकिया।पटनामेंपढ़नेकेदरम्यानकोचिगमेंपढ़ाकरस्वयंभीअपनीपढ़ाईपूरीकीऔरबिहारलोकसेवाआयोगकीपरीक्षानौवींरैंकसेपासकरडीएसपीबने।मगरउन्हेंपुलिसकीयहनौकरीरासनहींआयीऔरवर्ष2020कीशुरुआतमेंइससेत्यागपत्रदेदिया।इसकेबादडॉअखिलेशअपनीवहीपुरानेअध्यापनकेकार्यमेंलौटगएतथापटनासाइंसकॉलेजमेंसहायकप्रोफेसरकीनौकरीज्वॉइनकरलिया।

मगरशुरूसेहीअपनेदिलमेबदलावकीललकपालेडॉअखिलेशइतनेपरहीसंतुष्टहोनेनहींहुए।वेअपनेक्षेत्रकेपिछड़ेपनकोदेखकरबेचैनहैं।इलाकेकासमुचितविकासएवंक्षेत्रकेलोगोंकीजीवनकोव्यवस्थितकरनेकेलिएलगातारमचलरहेहैं।वेचाहतेहैंकिउनकेइलाकेकासंपूर्णविकासहो,किसानअच्छीखेतीकरेऔरउन्हेंउनकेउपजाएफसलकाउचितमुआवजामिले।क्षेत्रकेयुवाओंकोअच्छीशिक्षाऔररोजगारमिलेताकिवहअच्छाजीवनजीसके।

औरअपनेइन्हींसपनोंकेसहारेअबवहनरपतगंजविधानसभासेएकस्वतंत्रउम्मीदवारकेरूपलगातारक्षेत्रकाभ्रमणवजनसंपर्कअभियानमेंजुटेहुएहैं।इसबीचउन्होंनेविधानसभाक्षेत्रकेदर्जनोंदिशाविहीनयुवाओंकोमार्गदर्शनभीकियाऔरउन्हेंआगेबढ़नेकेलिएप्रोत्साहितभी।