राहों में कीचड़, शौचालयों में कबाड़

घिरोर,संसू:देशआजादहुएसातदशकसेज्यादासमयहोचुकाहै।इसकेबादभीगांवोंकेहालातनहींबदलसकेहैं।ग्रामीणअभीभीराहोंपरकीचड़सेहोकरगुजररहेहैं।गुस्साएग्रामीणोंनेइसकेचलतेप्रदर्शनकियाहै।

मामलाघिरोरकेग्रामनगलाकुंजीअवाहारसेजुड़ाहै।यहांकीमुख्यराहपरगंदापानीऔरकीचड़भरनेसेग्रामीणपरेशानहैं।यहांबनाएगएशौचालयआजभीअधूरेपड़ेहैं।ऐसेतमामशौचालयोंमेंसेकिसीमेंसीटनहीहैतोकिसीमेंगेट।किसीकातोटैंकहीनहींबनसकाहै।गांवसेबाहरआनेकेलिएरास्तानहींहै।ग्रामीणगंदगीसेहोकरनिकलनेकेलिएमजबूरहै।

प्रधानकेखिलाफकियाप्रदर्शन

समस्याओंसेगुस्साएग्रामीणोंनेरविवारकोगांवमेंप्रधानकेखिलाफप्रदर्शनकिया।पप्पूपुत्रबालकराम,आशारामपुत्रमोहरसिंह,राजबहादुरपुत्रदफेदार,रविन्द्रसिंहनेबतायाकिप्रधानकेकारणशौचालयअधूरेपड़ेहैं।मजबूरीमेंखेतोंकीओरजातेहैं।प्रदर्शनकरनेवालोंमेंवासुदेवसिंह,बदनसिंहउमेशसिंह,राजेन्द्रसिंह,विहारीलाल,राकेशउदयभान,शिवरामसहितकाफीग्रामीणमौजूदरहे।

अधूरेहैंशौचालय

स्वच्छभारतमिशनग्रामीणमेंबनाएगएशौचालयोंमेंसेकरीब40तोअधूरेहीपड़ेहैं।ऐसेमेंग्रामीणउनकाउपयोगकबाड़औरउपलेरखनेकोकररहेहैं।