प्यार के लिए पत्नी को छोड़ा, अब जूली भी नहीं हैं साथ, अकेले हैं इन दिनों लव गुरु मटुकनाथ

पटनाएकदशकपहलेही64सालकेप्रफेसरमटुकनाथचौधरीनेअपनीशिष्याजूलीकुमारीकोअपनेजीवनकाप्यारबतातेहुएउनकेसाथरहनेकाफैसलाकियाथा।उनकेलिएअपनीपत्नीकोभीछोड़दियाथा।हालांकिमटुकनाथकीयहशिष्याऔरउनकेजीवनकेप्यारनेइनदिनोंअध्यात्मकारुखकरलियाहैऔरप्रेमकेलिएचर्चित'लवगुरु'मटुकनाथइनदिनोंतन्हाअपनाजीवनबितारहेहैं।इसबारेमेंमटुकनाथसेपूछनेपरउन्होंनेकहा,'कोईनहींजानताकिपरिस्थितियांकबबदलजाएं।हमारेसाथभीकुछऐसाहीहुआ।हमकरीबदससालतकसाथरहे।फिरअचानकजूलीकासांसारिकमोह-मायासेलगावहटनेलगा।'बतादेंकिमटुकनाथकीजूलीसेमुलाकात2004मेंहुईथीजबवह51सालकेथेऔरजूली21सालकीथीं।दोसालबादउनकेप्यारकीसुर्खियांअखबारोंऔरटीवीन्यूजचैनल्सकीहेडलाइनबननेलगीऔरपटनाकेबीएनकॉलेजमेंहिंदीप्रफेसरमटुकनाथचौधरीमुश्किलोंसेघिरगए।यूनिवर्सिटीनेपहलेउन्हेंनिलंबितकियाऔरबादमेंकॉलेजसेनिकालदिया।उनकीपत्नीनेटीवीपत्रकारोंकेसाथउसघरपरछापापड़वायाजहांवहअपनीस्टूडेंटकेसाथलिवइनमेंरहरहेथे।उनकीपत्नीनेमटुकनाथकोगिरफ्तारभीकरवायाऔरआरोपलगायाकिवहस्टूडेंट्सकोज्यादानंबरदेनेकावादाकरकेप्रलोभनदेतेथे।इसकेबादमटुकनाथनेतलाकऔरयूनिवर्सिटीसेनिलंबनकीबहालीकेलिएकोर्टकेचक्करभीलगाए।पढ़ें:पत्नीकोसैलरीकाएकतिहाईगुजाराभत्तादेंगे'लवगुरु'प्रफेसरमटुकनाथपिछलेहफ्तेउन्होंनेसुप्रीमकोर्टमेंआश्वासनदियाकिवहअपनीसैलरीयापेंशनकाएकतिहाईहिस्साउम्रभरअपनीपत्नीकोभत्तेकेरूपमेंदेतेरहेंगे।फिलहालइनदिनोंवहबिल्कुलअकेलेहैं।यहांतककिस्टॉकहोममेंरहरहाउनकाबेटाभीउनसेबातनहींकरता।राजभवनकेसामनेप्रदर्शनकियाथा(फाइलफोटो)'उम्रकाअंतरकभीमुद्दानहींबना'बीएचयूऔरजेएनयूजैसीप्रतिष्ठितयूनिवर्सिटीकीडिग्रीहोल्डरजूलीकोकरीबचारसालपहलेअध्यात्ममेंरुचिआई।इसकेबादउन्होंनेपुड्डुचेरी,ऋषिकेश,पुणेमेंओशोआश्रममेंसमयबितानाशुरूकरदिया।मटुकनाथकहतेहैं,'जब-जबवहपटनाआतीथीतोकुछदिनोंकेलिएमेरेसाथरहतीथी।आखिरकारहमनेतयकियाकिवहफुलटाइमअध्यात्मकीशरणमेंरहेंगी।'मटुकनाथकहतेहैंकिवहशांतिकीखोजकेलिएजूलीकोमुक्तकरनाचाहतेथे।दोनोंकीउम्रमेंइतनाअंतरउनकेबीचकभीमुद्दानहींबना।वहकहतेहैं,'जूलीआजभीकहतीहैंकिहमारीमेंटलऐजसमानहै।'मटुकनाथजूलीकेसाथअपनेखुशहालदिनोंकीतस्वीरेंदिखातेहैं।एकतस्वीरमेंवहखुशमिजाजनजरआरहेहैंऔरसाइकलरिक्शाचलारहेहैंजबकिजूलीरिक्शेकीसीटपरबैठीहुईहैं।एकदूसरीतस्वीरमेंजोड़ाएक-दूसरेकोफूलभेंटकररहाहै।'लोगोंकानजरियाबदलाहै'हालांकिइसप्रेमकहानीनेउनकेजीवनमेंकाफीहंगामाभीखड़ाकिया,जोउनकेसुखकेपलोंमेंकिसीकालेबादलकीतरहमंडरातेरहे।मटुकनाथकोयूनिवर्सिटीमेंअपनेनिलंबनकीबहालीकेलिएप्रदर्शनभीकरनापड़ाथा।वहपटनामेंराजभवनकसामनेप्रदर्शनकरतेरहे,भूखहड़तालभीकीऔरआखिरकारकोर्टकारुखकिया।2011मेंयूनिवर्सिटीनेउन्हेंबहालकरदियाथालेकिनअपनेस्टूडेंट्सकेसाथडांसकरतेहुएएकयूट्यूबविडियोकेसामनेआनेकेबादउन्हेंफिरसेनिलंबितकरदियागया।इसकेबावजूदप्रफेसरकाकहनाहैकिलोगोंकानजरियाउनकेप्रतिबदलाहै।वहकहतेहैं,'जबमेरीपत्नीनेपूरेदेशकेसामनेमुझेअपमानितकियातबलोगोंनेमेरामजाकबनाया,वेमुझपरहंसतेथेलेकिनआजवहीलोगप्यारकेप्रतिमेरेयकीनपरमेरीतारीफकरतेहैं।मुझेकोईपछतावानहींहै।मैंनेवहीकियाजोमुझेसहीलगा।लोगअपनीरायबनानेकेलिएआजादहैं।'रिटायरमेंटकेबादकाप्लान2013मेंजबयूनिवर्सिटीनेउन्हेंनिलंबनकालकाउनकाबकायावेतनकरीब20लाकरुपयेसौंपातोउन्होंनेजूलीकोवैलंटाइंसडेकेदिन6.3लाखकीकारगिफ्टकीथी।मटुकनाथअबपटनाकेशास्त्रीनगरमेंएकअपार्टमेंटमेंअकेलेरहरहेहैंऔरअक्टूबरमेंपटनायूनिवर्सिटीसेरिटायरहोनेवालेहैं।उन्होंनेअपनेरिटायरमेंटकेबादकाप्लानभीबनायाहै।प्रफेसरनेबतायाकिरिटायरमेंटकेबादवहभागलपुरजिलमेंअपनीप्रेमपाठशालाखोलेंगेऔरस्टूडेंट्सकोप्यारऔरविश्वासकापाठपढ़ाएंगे।इसखबरकोअंग्रेजीमेंपढ़नेकेलिएक्लिककरें