प्यार के आगे हारा एचआइवी

महराजगंज:उसेमालूमथाकिसाथीएचआइवीसेपीड़ितहै।लेकिनउसयुवतीकोचिकित्साविज्ञानपरपूराभरोसाथा।..औरउसनेसमाजकीसोचसेहटकरअपनेदिलकीसुनी।फिरक्याप्यारकेआगेएचआइवीहारगया।दोनोंनेआपसमेंशादीकरलीऔरअबवहदंपतीखुशहालजीवनव्यतीतकररहेहैं।

जिलेकेएकगांवकायुवकजाने-अनजानेमेंकहींसेएचआइवीकीचपेटमेंआगयाथा।इसीदरम्यानउसकीदोस्तीकालेजमेंसाथपढ़नेवालीएकयुवतीसेहोगई।दोस्तीरिश्तोंमेंतब्दीलहोनेकीजबबातचलीतोयुवककीसच्चाईयुवतीकेसामनेआई।फिरभीयुवतीउससेशादीकरनेपरअड़ीरही।जबकियुवतीएचआइवीसेपीड़ितनहींथी।फिरभीउसेलगाकिवहशादीकरलेगीतोदवाऔरचिकित्सकोंकेपरामर्शसेखुशहालजीवनगुजारसकतीहै।परिवारवालोंसेबातकी,पहलेतोवहराजीनहींहुए,लेकिनबादमेंअपनेबच्चोंकीजिदकेआगेवहमानगए।फिरदोनोंकेमाता-पितानेखुशी-खुशीविधि-विधानसेबेटा-बेटीकीशादीरचाई।अबदोनोंपति,पत्नीसुखमयजीवनगुजाररहेहैं।

अबतकसातघरोंमेंगूंजीशादीकीशहनाई

:जिलासंयुक्तचिकित्सालयमेंस्थितफैसिलिटीइंट्रीग्रेटेडएंटीरेक्ट्रोवायरलट्रीटमेंटसेंटरमेंवर्ष2014नवंबरसेअबतक20जोड़ोंनेअपनाआवेदनदेकरशादीकीइच्छाजताई।इसमेंविभागकीपहलपरसातजोड़ेशादीकररिश्तोंकीडोरमेंबंधेहैं।

जिलेमेंहैं2130एचआइवीमरीज

:एआरटीसेंटरपर2130एचआइवीमरीजपंजीकृतहैं।लेकिनकुछनहींरहे,तोकुछनेदवाछोड़दी,औरकुछबाहरचलेगए।लेकिनइनमेंभी1619मरीजनियमितअपनाइलाजकरानेआतेहैं।

फोटो:30एमआरजे:13

एचआइवीसंक्रमितकोखसेअबतक51स्वस्थबच्चोंकाजन्महुआहै।जबकिदोबच्चेपाजिटिवपाएगएहैं।इनसभीबच्चोंकेमाता-पिताएचआइवीसेपीड़ितथे,लेकिननियमितदवाऔरजांचसेइनदंपतीकोस्वस्थबच्चोंकाजन्महुआहै।सभीखुशहालहैं।लेकिनयहकेसथोड़ाअलगहै।युवकएचआइवीसेपीड़ितहै,जबकियुवतीनहींहै।लड़केकीदवाचलरहीहै।अगरयुवतीगर्भवतीहोतीहै,तोउसकीनियमितमानिटरिगकेसाथचिकित्सकीयपरामर्शवदवादीजाएगी।वर्तमानमेंआउटरीचवर्करउनकीकाउंसिलिगकररहेहैं।डा.एवीत्रिपाठी

प्रभारीचिकित्साधिकारी,एआरटीसेंटर,महराजगंज