पुलवामा शहीदों के परिवारों की करना चाहते हैं आर्थिक मदद, जानें- सुरक्षित और सही तरीका

नईदिल्ली[जागरणस्पेशल]।जम्मू-कश्मीरकेपुलवामामेंगुरुवार(14-फरवरी-2019)कोसीआरपीएफकाफिलेपरहुएआतंकीहमलेकोलेकरपूरेदेशमेंगुस्साहै।इसहमलेमेंदेशनेअपने40वीरसपूतोंकोखोदिया,जबकिकईजवानगंभीररूपसेघायलहैं।लोगोंकीआंखेंनमहैंऔरदिलोंमेंदुश्मनसेबदलालेनेकीआगधधकरहीहै।गुस्साएलोगजगह-जगहअपनेशहीदजांबाजोंकोश्रद्धांजलिअर्पितकररहेहैं।साथहीआतंकवादऔरपाकिस्तानकेपुतलेफूंकरहेहैं।

इनसबकेबीचबहुतसेलोगशहीदोंकेपरिवारकीमददमेंभीजुटगएहैं।अगरआपभीशहीदोंकेपरिवारकीआर्थिकमददकर,उनकाहौसलाऔरसम्मानबढ़ानाचाहतेहैंतोयहांबताएगएतरीकोंसेआपसीधेउनकेपरिवारकेखातोंमेंदानकरसकतेहैं।शहीदोंकेपरिवारकोआर्थिकमददकरनेसेपहलेआपकेलिएयेभीजानलेनाजरूरीहैकिआपकहींगलतजगहपरदाननकरदें।यहांहमआपकोजोमाध्यमबतारहेहैं,वोकेंद्रसरकारद्वारातैयारकियाएकबेहदसुरक्षितजरियाहै।

भारतसरकारकेकेंद्रीयगृहमंत्रालयनेअपनेशहीदजवानोंकेपरिवारकीआर्थिकमददकेलिए2017मेंविशेषतौरपरभारतकेवीर(BharatKeVeer)नामसेवेबसाइटऔरमोबाइलएपलॉचकियाथा।इससरकारीवेबसाइटकेजरिएदेशकीआमजनताशहीदोंकेपरिवारोकोआसानीसेआर्थिकमददपहुंचासकतीहै।

इसकेअलावाआपदैनिकजागरणकीखासपहल‘पुलवामाकेशहीद’सेजुड़करभीआपशहीदोंकेपरिजनोंकीआर्थिकमददकरसकतेहैं।इसकेलिएआपजागरणकीवेबसाइटjagran.comपरजाकर'पुलवामाकेशहीद'लिंकपरक्लिककरें।पुलवामाकेशहीदोंकोश्रद्धांजलिदेनेकेलिएइसपेजकोविशेषतौरपरतैयारकियागयाहै।यहांभीशहीदोंकेपरिजनोंकीमददकरनेऔरराहतकोषमेंयोगदानदेनेकेलिएएकलिंकदियागयाहै।इसलिंकपरक्लिककरकेआपसीधे'bharatkeveer.gov.in'परपहुंचजाएंगे।क्लिकहेयरटूकंप्ट्रीब्यूटपरक्लिककरकेआपजिसभीशहीदकेपरिजनोंकीमददकरनाचाहें,उनकाचुनावकरकेसीधेउन्हेंमददपहुंचासकतेहैं।

इसपेजपरआप'मांभारतीकेअमर्त्यवीर'केअंतर्गतसभीशहीदोंकीतस्वीरऔरनामदेखसकतेहैं।इनतस्वीरोंपरक्लिककरकेआपकोशहीदोंकेबारेमेंसंक्षिप्तजानकारीमिलजाएगी।शहीदोंकेबारेमेंअधिकजानकारीचाहतेहैंतो'पुलवामाकेशहीद'पेजपरही'शौर्यगाथा'नामसेहरशहीदकेबारेमेंविस्तृतजानकारीभीहै।संबंधितफोटोगैलरीऔरवीडियोभीआपयहांदेखसकतेहैं।दैनिकजागरणकीइसमुहिमकाहिस्साबनें।देशप्रेमकीराहमेंजानन्यौछावरकरनेवालेसैनिकोंकोयहीसच्चीश्रद्धांजलिहोगी।

यहांआपदोतरहसेदानकरसकतेहैं,पहलाआपसीधेशहीदकेपरिवारकेखातेमेंरकमदानकरसकतेहैंऔरदूसराआपभारतसरकारकेवीरकोषमेंरुपयेदानकरसकतेहैं।भारतसरकारवीरकोषकाइस्तेमालशहीदऔरघायलजवानोंवउनकेपरिवारोंकीमददकेलिएकरतीहै।

अधिकतमदानकीसीमा15लाखरुपयेभारतकीआन-बानऔरशानकेलिएअपनेप्राणोंकोन्यौछावरकरनेवालेप्रत्येकवीरकेपरिवारकोअधिकतम15लाखरुपयेहीदानकिएजासकतेहैं।इसलिएशहीदकीफोटोकेसाथउसेदानमेंमिलचुकीरकमऔरशेषरकमदोनोंदिखाईजातीहै।आपशेषरकमकीसीमातकहीउसशहीदकेपरिवारकेखातेमेंदानकरसकतेहैं।इससेज्यादारकमदानकरनेपरआपकोदानकीरकमकमकरनेकाविकल्पमिलेगायाशेषसीमासेअधिककीरकमवेबसाइटकेवीरकोषमेंट्रांसफरहोजाएगी,जोअन्यशहीदोंकेकामआएगी।15लाखरुपयेकीअधिकतमसीमाइसलिएनिर्धारितकीगईहै,ताकिसभीशहीदजवानोंकोआर्थिकमददप्राप्तहोसके।दानकरनेकीकोईन्यूनतमसीमानहींहै।इसवेबसाइटकेजरिएशहीदजवानोंकोअबतकलाखोंरुपयेदानकिएजाचुकेहैं।

वेबसाइटकेजरिएदानकरनेवालेलोगट्वीटरसमेतअन्यसोशलमीडियाप्लेटफार्मपरअपनेदानप्रमाणपत्रपोस्टकरऔरलोगोंकोदानकरनेकेलिएप्रेरितकररहेहैं।दानकरनेवालोंमेंतकरीबनहरराज्यकेलोग,बड़ेअधिकारी,नेता,खिलाड़ीसेलेकरहरवर्गकेलोगशामिलहैं।बहुतसेलोगोंनेयासंगठननेसामूहिकतौरपरअपनीएकदिनयाएकसप्ताहयाएकमहीनेकीतनख्वाहदानकरनेकीभीघोषणाकीहै।