पटरी पर नहीं आ पा रहीं स्वास्थ्य सेवाएं

जागरणसंवाददाता,फरीदाबाद:राष्ट्रीयस्वास्थ्यमिशन(एनएचएम)कर्मचारियोंकीपांचफरवरीसेचलरहीहड़तालकेचलतेअबतकस्वास्थ्यसेवाएंपटरीसेपूरीतरहसेउतरनेकीकगारपरपहुंचचुकीहैं।इनकर्मचारियोंकीआड़मेंकईनियमितकर्मीभीलापरवाहहोगएहैं।इसकाखामियाजामरीजोंकोभुगतनापड़रहाहै।हालांकिस्वास्थ्यविभागवैकल्पिकव्यवस्थाकरनेमेंजुटगयाहै।फिरभीसंतोषजकस्थितिनहींबनपाईहै।केसएक

एनआइटीनंगलानिवासीगौरीशंकरझापैरोंमेंजख्मकेचलतेदोदिनसेबादशाहखानअस्पतालमेंइलाजकोआरहेहैं।कोईसुनवाईनहींहोरहीहै।उनकीपड़ोसनसाधनामानवताकेनातेउन्हेंशुक्रवारसुबहअस्पताललेकरआईथी।कईघंटेतकउन्हेंकिसीनेनहींदेखा।साधनानेबतायाकिपहलेनिजीअस्पतालगएथे,वहांभीसहीतरीकेसेइलाजपरध्याननहींदियागया।केसदो

संजयकॉलोनीनिवासीदीपकनेपत्नीआंशिका¨सहकोबादशाहखानअस्पतालकेआपातकालीनविभागमेंसबह10बजेभर्तीकरायाथा।अंशिकाकोगहरीचोटआईथी,जिन्हेंदिल्लीकेसफदरजंगअस्पतालरेफरकरदियागया।हड़तालकेकारणएंबुलेंससेवानमिलनेसेमहिलादोघंटेतकआपातकालीनविभागमेंहीपड़ीरही।सरकारकेआदेशपरनर्सऔरअन्यपदोंपरभर्तीशुरूकरदीगईहै।हमवैकल्पिकव्यवस्थापरध्यानदेरहेहैं।किसीभीमरीजकोपरेशाननहींहोनेदियाजाएगा।

-डॉ.गुलशनअरोड़ा,मुख्यचिकित्साअधिकारी।