पति-पत्नी घर में मास्क बना लोगों के बीच कर रहे वितरण

औरंगाबाद।कोरोनावायरसकेसंक्रमणसेबचावकेलिएजबहरनागरिकोंकोमास्ककीजरूरतपड़ी।तोबाजारसेमास्कगायबहोगया।खोजनेसेभीमास्कनहींमिलरहाहै।कुछदुकानोंपरमिलभीरहाहैतो100से150रुपयेमें।बाजारमेंमास्ककीकमीदेखएकदंपतीनेसमाजसेवाकाजुनूनलेकरघरोंमेंमास्कबनानाशुरूकरदिया।नगरथानाकेरामाबांधबंगलागिराजचंदौलीनिवासीउमेशयादवअपनीपत्नीकिरणदेवीकेसाथघरोंमेंमास्कबनालोगोंकेबीचवितरणकररहेहैं।इसकार्यमेंउमेशकीदोपुत्रियांसाथदेरहीहैं।लॉकडाउनमेंयहदंपत्तीअपनेघरोंमेंरहकरखानाबनाकरखानेकेबादबचेसमयमेंमास्कबनानेमेंलगजातेहैं।गुरवारकोएकसौमास्कबनाकरलोगोंकेबीचनिशुल्कवितरणकियाहै।उमेशनेबतायाकिबाजारमेंबेहतरमास्कनहींमिलनेऔरकुछजगहोंपरएकसेज्यादापैसेमेंमिलनेकीसूचनाकेबादमेरीपत्नीनेमास्कबनाबांटनेकीबातकही।सोचागरीबतबकेकेलोगदुकानसेमास्कनहींखरीदसकेंगे।पत्नीकीबातपरहमदोनोंनेकपड़ेकामास्कबनानिशुल्कवितरणकरनेकीजिज्ञासालिएबनानेकाकार्यशुरुकिएहैं।उमेशनेबतायाकिपहलेदिन100मास्कबनायागयाहै।एकसौमास्कबनानेमेंकरीबएकहजारसे1500सौरुपयेकाकपड़ालगताहै।बतायाकिकटिगदोनोंपुत्रियांकरतेहैंऔरहमपतिपत्नीसिलाईकरतेहैं।पत्नीसिलाईकाप्रशिक्षणदेनेकाकामकरतीहै।उमेशनेबतायाकिवहजनअधिकारयुवामोर्चासेभीजुड़ाहै।उधरबाजारमेंमास्ककीकमीकोदेखतेहुएडीएमकेनिर्देशपररफीगंजप्रखंडकेगोरडिहाएवंचरकांवांपंचायतकेजीविकासमूहसेजुड़ीनिभाकुमारी,रिकुकुमारी,रुबीदेवी,फूलकुमारी,संगीतादेवी,गितादेवी,अंजूकुमारीकेद्वारामास्कबनायाजारहाहै।अबतकजीविकाकीमहिलाओंकेद्वारा28हजारमास्कबनायागयाहै।जिलेकेसभीप्रखंडोंकेसरकारीअस्पतालोंकोदो-दोहजारमास्कउपलब्धकरायागयाहै।जीविकाकेडीपीएमचंदनकुमारनेबतायाकिडीएमकेनिर्देशपरजिलास्वास्थ्यसमिति(डीएचएस)सेसमन्वयस्थापितकरमास्कबनायाजारहाहैऔरडीएचएसकोदीजारहीहै।एकमास्कको20रुपयेमेंडीएचएसकोदीगईहै।