पश्‍च‍िम चंपारण का सिंघल टोला दलित बस्ती नल-जल योजना से वंचित, प्रखंड मुख्यालय से सटे गांव का यह हाल

पश्‍च‍िमचंपारण,जेएनएन।मुख्यमंत्रीसातनिश्चयकेतहतसरकारहरगांवकोनलजलयोजनासेजोड़रहीहैताकिलोगोंकोशुद्धऔरसेहतमंदपानीमिले।पानीकेकारणहोनेवालीबीमारियोंसेलोगोंकोमुक्तिमिलसके।कईपंचायतोंऔरउनकेवार्डोंमेंपानीभीमिलरहाहै।लेकिनगौनाहाप्रखंडमुख्यालयसेसटेसिंघलटोलामहादलितबस्तीमेंअबतकसरकारकीयहयोजनानहींपहुंची।जबकियहगांवदलितबाहुल्यहैऔरयहांनलजलयोजनाकोप्राथमिकतासेधरातलपरउतारनेकीलोगउम्मीदलगाएबैठेहैं।इतनाहीनहींप्रखंडकेकईऐसेगांवहैंजहांलोगोंकोआजभीइसयोजनाकालाभनहींमिलरहा। गौनाहापंचायतकेवार्डनंबरतीनस्थितमहादलितबस्तीसिंघलटोलामेंकरीब60परिवाररहतेहैं।जिन्हेंकमगहराईवालेचापाकलकेपानीसेप्यासबुझानीपड़तीहैजिसकाप्रभावउनकेसेहतपरपड़ताहै।

योजनाकालाभनहींमिलनेपरग्रामीणआक्रोशित

ग्रामीणजिलेबीराउत,मंगलराउत,अशोकराउत,चंद्रदेवराम,शमसुद्दीनमियां,दरोगारामआदिबतातेहैंकिपंचायतकेसभीटोलोंमेंनल-जलकाकामहुआहै।लेकिनजनप्रतिनिधियोंकीउदासीनताकेचलतेसिंघलटोलाकोवंचितरखागयाहै।ग्रामीणोंकायहभीकहनाहैकियहांपरदर्जनोंपरिवार शौचालयवइंदिराआवाससेवंचितहै।जबकिसरकारदलितऔरमहादलितकेविकासकेलिएकईयोजनाएंचलारहीहैं।यहांकेलोगोंकायहभीकहनाहैकिनलजलयोजनाकिसपरिस्थितिमेंअबतकयहांशुरूनहींहुई।इसकीजांचकीजरूरतहै।

पंडईनदीकेकटावसेपरेशानहोतेग्रामीण

गौनाहारेलवेस्टेशनकेपासयहटोलापंडईनदीकेकटावसेभीप्रभावितरहाहै।ग्रामीणोंनेबतायाकिनदीमेंअगरगाईडबांधबनजाएतोटोलाकाअस्तित्वबचसकताहै।बरसातकासमयशुरूहोता हैतोलोगोंकीआंखोंकीनींदचलीजातीहै।लोगरातभरघरमेंबैठकरअपनेकोसुरक्षितकरनेमेंलगेरहतेहैं।दूसरीतरफजंगलीजानवरोंकेआतंकसेभीग्रामीणहमेशाभयभीतरहतेहैं।कभीबाघतोकभीजंगलीसूअरकेआतंकसेसहमेरहतेहैं।ग्रामीणोंनेबतायागयाकिवनविभागभीइसपरकोईठोसकदमनहींउठाताहै।

नदीपरबांधकोलेकरजनप्रतिनिधियोंद्वाराआश्वासनतोदिएजातेहैं।लेकिनवहपूरानहींहुआ।ग्रामीणोंकाकहनाहैकिगाइडबांधकेलिएआलाअधिकारियोंसेलेकरजनप्रतिनिधियोंतकगुहारलगाचुकेहैं।लेकिनउसकाकोईसमुचितनिदाननहींनिकला।भगवानभरोसेहीलोगोंकाजीवनकटतीहै।दूसरीतरफबिजलीकीतारभीजर्जरस्थितिमेंहै। कवरवालातारनहींलगनेसेहमेशापेड़पौधोंमेंसटनेकीआशंकाबनीरहतीहै।जिससेकभीभीकोईअप्रियघटनाघटसकतीहै।

इसबारेमेंगौनाहापंचायतकीमुखियाजमीलाखातूननेकहाक‍िसिंघलटोलामेंनल-जलयोजनाकालाभनहींमिलनेकाकारणयहहैकिनयकाटोलामेंपानीकीटंकीलगायागया,जोकाफीदूरहै।जिसकेकारणयहांकेलोगयोजनासेवंचितहैं।जहांतकशौचालययोजनाकीबातहैतोजमीननहींदियागया,जिससेकुछलाभार्थीवंचितहै।