प्रयागराज: ढोल-मजीरे के साथ होलियारों की टोली कर रही है धमाल, महिलाएं भी नहीं हैं पीछे

प्रयागराज,मोहम्मदमोईन।संगमनगरीप्रयागराजभीरंगोंकेखुमारऔरहोलीकीमस्तीमेंडूबीहुईहै।यहांहोलियारोंकीटोलीकहींढोल-मजीरोंकेसाथअबीर-गुलालउड़ारहीहैतोकहींमहिलाएंफागुनीगीतगातेहुएठुमकेलगाकरएक-दूसरेकोरंगोंमेंसराबोरकररहीहैं।

रंगऔरपिचकारियोंकेबीचलोगहोलीकेगीतोंपरमस्तीमेंमगनहोकरझूम-नाचरहेहैंऔरहोलीकीखुशियांमनारहेहैं।होलीकीमस्तीमेंसराबोरहोनेवालेहोलियारोंमेंमहिलाएंऔरबच्चेभीपीछेनहींहैं।

प्रयागराजकीहोलीअपनेअल्हड़पनकीवजहसेसमूचीदुनियामेंमशहूरहै।शहरकेलोकनाथइलाकेमेंतोहजारोंकीसंख्यामेंहोलियारेधमालकररहेहैं।मंगलवारसुबहसेहीगुलाबीमौसमनेहोलीकीमस्तीकेसुरूरकोऔरबढ़ादियाहै।

प्रयागराजकेगली-मोहल्लोंमेंमहिलाएंऔरबच्चेजमकरधमालकररहेहैंतोयुवाऔरबुजुर्गभीअबीर-गुलालउड़ाकरहोलीकीमस्तीमेंशामिलहोनेमेंकतईपीछेनहींहैं।यहांगली-मोहल्लोंमेंहोलियारोंकीबारातनिकलरहीहैतोसाथहीमहिलाओंकीटोलीअलगहीअंदाजमेंहोलीमनारहीहै।

प्रयागराजमेंहोलीकात्यौहारतीनदिनोंतकमनायाजाताहैऔरयहांकेलोगतीनदिनोंतकसड़कोंपरनिकलकरअबीर-गुलालउड़ातेहुएहोलीकीमस्तीमेंसराबोरहोतेहैं।संगमनगरीमेंदूसरेदिनखेलेजानेवालेलोकनाथचौराहेकीकपड़ाफाड़होलीतोअपनेखालअंदाजकेलिएसमूचीदुनियामेंमशहूरहै।