प्री काउंसलिंग के जरिए जेनेटिक रोगों पर लगाया जा सकता है अंकुश

हैदराबाद,एएनआइ।डॉक्टरोंकाकहनाहैकिप्री-काउंसलिंगऔरसहीनिदानआनुवांशिकबीमारियोंऔरआनेवालीपीढ़ियोंमेंहोनेवालेविकारोंकोरोकनेकेलिएजरूरीहै।मीडियासेबातकरतेहुए,थैलेसीमियाविशेषज्ञडॉगायत्रीनेकहाकिरक्तपरीक्षणद्वारावाहकोंकापतालगाकरथैलेसीमियाऔरसिकलसेलरोगोंकोरोकाजासकताहै।

अगरऐसेदोलोगशादीकरलेतेहैंजोजोइसबीमारीसेग्रस्तहैतोउनकेबच्चोंमेंबीमारीसेप्रभावितहोनेकी25प्रतिशतसंभावनाहै।उन्होंनेकहाकिवाहककापतालगानाहमारालक्ष्यहोनाचाहिए।यहगर्भावस्थाकेदौरानयाशादीसेपहलेकियाजासकताहै।अगरकोईदंपतिहैजिसकाबच्चाथैलेसीमियासेप्रभावितहैतोपरिवारकेसदस्योंऔररक्तसंबंधियोंकीजांचकीजानीचाहिए।

इंडियनऑर्गेनाइजेशनफॉररेयरडिसीज़केसदस्यडॉकृष्णारावनेकहाकिदुर्लभरोगदिवसपरजागरूकताफैलानेकीआवश्यकताहै।येदिवस 29फरवरीकोमनायाजाताहै,क्योंकियहकेवलचारसालमेंएकबारआतीहै।उन्होंनेकहाकिलगभग7,000दुर्लभबीमारियांहैं।आंकड़ोंकेअनुसार,उनमेंसे85प्रतिशतआनुवंशिकहैं।तेलंगानामें,लगभग20लाखलोगआनुवंशिकविकारोंसेपीड़ितहैं।एकव्यक्ति,जोएकमांसपेशियोंकीबीमारीसेपीड़ितहै,मोहम्मदइमराननेकहाकिविकारकेकारणमेरीकुछमांसपेशियांठीकसेकामनहींकरतीहैं।