पराली जलाने के बढ़े केस, 21 कर्मचारियों का रोका वेतन

जागरणसंवाददाता,मथुरा:वायुमेंफैलेप्रदूषणकोनियंत्रितकरनेकेलिएप्रतिबंधकेबादभीकिसानखेतोंमेंपरालीजलारहेहैं।अबतकजिलेमें233स्थानोंपरपरालीजलानेकीघटनाएंहोचुकीहैं।अबतक21कर्मचारियोंकेखिलाफकार्रवाईकीगईहै।इनकाएकदिनकावेतनरोकागयाहै।साथहीअन्यकर्मचारियोंकोकारणबताओनोटिसजारीकिएगएहैं।

इनदिनोंवायुप्रदूषणचरमपरहै।एयरक्वालिटीइंडेक्स(एक्यूआइ)100होनाचाहिए,लेकिनइससमय409तकमापागयाहै।उत्तरप्रदेशप्रदूषणनियंत्रणबोर्डकीमथुराइकाईवायुमेंपरालीकाधुआंघुलनेकादावाकररहाहै।बोर्डकेदावेमेंदमहै।एनजीटीनेपरालीजलाएजानेपररोकलगारखीहै,इसकेबादभीपरालीजलानेकीघटनाएंहोरहीहैं।सैटेलाइटसेप्रशासनऔरकृषिविभागकोएक-दोस्थानोंपरपरालीजलानेकीरोजानालोकेशनमिलरहीहै।कृषिविभाग,जिलापंचायतराजविभाग,राजस्वविभागसमेतअन्यविभागोंकेकर्मचारीइसकीतस्दीकभीकररहेहैं।इन्हींविभागोंकेकर्मचारियोंकीड्यूटीलगाईगईहै।वहभीपरालीजलानेकेमामलेलगातारबढ़रहेहैं।अबतक233स्थानोंपरपरालीजलानेकीघटनाघटितहोचुकीहैं।किसानोंकोपरालीजलानेसेरोकनेमेंनाकामरहनेपर21कर्मचारियोंकाएकदिनकावेतनरोकागयाहै।डीएमनवनीतचहलनेजिनक्षेत्रोंमेंपरालीजलानेकीघटनाएंहुईहैं,उनक्षेत्रोंमेंनियुक्तकिएगएकर्मचारियोंसेकारणबताओनोटिसजारीकिएहैं।जिलाकृषिअधिकारीअश्विनीकुमारसिंहनेबताया,परालीजलानेकेमामलेमेंचिन्हितकिएगएकिसानोंसेजुर्मानावसूलनेकीकार्रवाईकीजारहीहै।अबतक72,500रुपयेकाजुर्मानावसूलकियाजाचुकाहै।करीब200किसानोंकोनोटिसभेजेजाचुकेहैं।अन्यकिसानोंकोनोटिसभेजनेकीकार्रवाईकीजारहीहै।