पकड़ेंगे नहीं, तेंदुए को दी जाएगी राह

सीतापुर:सदरपुरवमहमूदबादक्षेत्रमेंबीतेदोसप्ताहसेचहकलकदमीकररहेतेंदुएकेभयसेग्रामीणोंकोनिजातदिलानेकाखाकावनविभागनेतैयारकरलियाहै।वनविभागबगैरकिसीशोरशराबेकेइसतेंदुएकोवापसजंगलभेजनेकेमूडमेंहै।जिसकेलिएग्रामीणोंकोभीजागरूककियाजारहाहै।मंशाहै,कितेंदुआबगैरकिसीकोनुकसानपहुंचाए,जंगलमेंवापसचलाजाए।

दरअसलसीतापुरसीमासेसटेहुएदोजंगलपड़तेहैं,उनमेंएकदुधवाजंगल,तोदूसराकतर्नियाजंगलहै।वनविभागकेअधिकारियोंकाकहनाहै,कियहतेंदुआकतर्नियाकेजंगलोंसेभटककरआयाहै।सदरपुरवमहमूदाबादक्षेत्रमेंगन्नेकीजबरदस्तखेतीहै,इन्हीेंखेतोंमेंउसनेअपनाठिकानाबनालियाहै।शिकारकीतलाशमेंजबवहभटकताहै,तबकभी-कभीउसकासामनाक्षेत्रकेग्रामीणोंसेहोजाताहै।लेकिनयहतेंदुआहमलावरनहींहैऔरनहीनरभक्षीहै।इसलिएक्षेत्रकेबा¨शदोंकोइससेकोईखतरानहींहै।वनविभागकीटीमभीइसपरनजररखरहीहै।अभीतकऐसीनौबतनहीआईहै,किइसेपकड़ाजाए।वहजिसरास्तेसेजंगलसेभटककरआयाहै,उसीरास्तेसेवहजंगलवापसचलाजाएगा।वनविभागकेअधिकारीग्रामीणोंसेसंपर्कसाधरहेहैंऔरउन्हेंतेंदुएकेसंबंधमेंजानकारीदेरहेहैं।गन्नाकटनेसेसामनेआया

तेंदुएनेसदरपुरइलाकेकेगन्नेकेखेतोंमेंठिकानाबनायाहै।इनदिनोंचीनीमिलेंचालूहोगईहै।अबकिसानगन्नाकाटकरखेतखालीकररहहै।इसवजहसेअबखेतमैदानकारूपलेतेजारहेहैं।वहींइसजिलेमेंअभीइतनाबड़ाकोईजंगलनहींहै,जिसमेंशेर,बाघ,चीतायातेंदुआविचरणकरसकें।नतीजागन्नाकटनेसेतेंदुआकोछिपनेकास्थाननहींमिलपारहाहै।जिसकीवजहसेवहइधरउधरभटकरहाहै।उसकीचहलकदमीकेदौरानजबतकउसकासामनाइंसानोंसेहोरहाहै।खुदहीचलाजाएगातेंदुआ

सदरपुरक्षेत्रमेंमौजूदतेंदुआखुदहीजंगलमेंवापसचलाजाएगा।बीतेदोदिनोंसेउसक्षेत्रमेंऐसीकोईहलचलभीनहींदेखीगई,जिससेतेंदुआकीमौजूदगीनजरआए।

डॉ.अनिरुद्धपांडेय,डीएफओ