पीक पर कोरोना, फिर भी बरती जा रही लापरवाही

एटा,जासं।कोरोनापीकपरहैफिरभीलापरवाहीबरतीजारहीहै।सरकारकीगाइडलाइनकापालननहींहोपारहा।जनपदमेंतमामसंगठनलगभगहररोजभीड़जुटाऊकार्यक्रमकररहेहैं।

कोरोनारफ्तारपकड़चुकाहै।एकदिनमेंरिकार्ड60संक्रमितोंकेनिकलनेकाआंकड़ाभीसामनेआचुकाहै।1100सेअधिकलोगजिलेमेंअबतकसंक्रमितहोचुकेहैं।लापरवाहीजानकाजोखिमबढ़ारहीहै।सामाजिकसंगठनोंऔरराजनीतिकपार्टियोंकोसीमितसंख्यामेंकार्यक्रमकरनेकीछूटहै,लेकिनइसकादुरुपयोगकियाजारहाहै।बेहदसंकरेस्थानपरभीड़जुटालीजातीहै,कार्यक्रमोंमेंलोगएक-दूसरेसेसटकरबैठतेहैं।तमामलोगमास्कतकनहींलगाते।सैनिटाइजरकीव्यवस्थाभीकार्यक्रमोंवालीजगहपरनहींकीजाती।यहविकल्पदेरखाहैकिवर्चुअलमीटिगकीजाएं,लेकिनकुछसंगठनइसकेप्रतिबेहदलापरवाहहैं।बसस्टैंडपरअधिकलापरवाही:

रोडवेजबसस्टैंडकेहालातयहहैंकिअबगाइडलाइनयहांसबभूलचुकेहैं।बसोंमेंयात्राकेदौरानतोपालनहोहीनहींरहा।नियमयहहैकिप्रत्येकयात्रीकोसैनिटाइजकरनेकेबादहीबसकेअंदरदाखिलहोनेदियाजाए,लेकिनअबऐसानहींहोरहाहै।कईयात्रीबिनामास्कलगाएहीबसोंमेंबैठेदिखाईदेतेहैं।डग्गेमारभीबेखौफ:

रोडवेजबसस्टैंडपरजमकरडग्गेमारीहोतीहैऔरप्राइवेटवाहनोंमेंसवारियांठूंसकरभरीजातीहैं।ऐसेमेंसंक्रमणकाखतराऔरज्यादाबढ़जाताहै।हैरतकीबाततोयहहैकिबसस्टैंडपरपुलिसचौकीभीहै,लेकिनपुलिसकभीइनकोनहींटोकतीहै।