पीएम नरेन्‍द्र मोदी के आमंत्रण पर प्रयागराज पहुंची महिलाओं की सफलता की है रोचक कहानी, आप भी जानें

प्रयागराज,जागरणसंवाददाता।कभीगरीबीकीबेबसीसेदोवक्तकीरोटीकाइंतजाममुश्किलथा।सालकेआधेदिनकभीकाममिलातोकभीखालीबैठनापड़ा।रोजगारकीतलाशमेंदूसरेप्रदेशोंमेंभीजानापड़ा।बसजिदथीकिपरिवारकोखुदसंभालनाहै।ऐसेमेंकेंद्रऔरप्रदेशसरकारकीकईयोजनाओंसेजबजुडऩेकामौकामिलातोउनकीजिंदगीहीबदलगई।

एनआरएलएमकेजरिएसमूहबनाकरउत्पादनशुरूकियातोगांवमेंहीआर्थिकस्थितिसंभालनेकाविकल्पबना।बीसीसखीबननेकामौकामिलातोबैंकिंगसेवासेसीधेजुड़गईं।इसीतरहसरकारकीकईऐसीहीयोजनाओंसेमहिलाएंजुड़तीगईं।बेरोजगारीकेश्रापसेमुक्तिमिली।आमदनीकास्रोतखुलातोघरकीआर्थिकस्थितिबदलनेलगी।स्वावलंबनकीइच्छापूरीहुईऔरअपनेशानदारकामकेबलपरसमाजमेंमिसालबनगईं।

दैनिकजागरणसेबातचीतमेंविद्युतसखीकीजिम्मेदारीदेखरहीसंजूदेवीकाकहनाथाकिदेशमेंपहलीबारप्रयागकीधरापरसिर्फमहिलाओंकेसम्मानमेंइतनाबड़ाआयोजनकियाजारहाहै,वहअभिभूतहैं।वहखुदतीनसालमें22लाखबिजलीकाबिलजमाकरायाहै,उससेमुझेजोकमीशनमिला,वहमेरेपरिवारकेलिएकिसीआक्सीजनसेकमनहींथा।

अनाजबैंकचलानेवालीसंगीतापटेलकहतीहैंकिपीएमकेकार्यक्रममेंशामिलहोनेकाजिनपौनेतीनलाखमहिलाओंकोसौभाग्यप्राप्तहुआहै,उन्हेंमानोंनयाआसमानमिलगयाहै।दूर-दराजगांवकीजिनमहिलाओंकोकलतकघरसेबाहरनिकलनेकीछूटनहींथी,अबवहसैकड़ोंकिलोमीटरदूरपीएमकेआमंत्रणपरअतिथिबनकरआईहैं।इनदोमहिलाओंकेभावबतातेहैंकिमहिलाओंकाआत्मविश्वासकिसतरहउंचाईलेचुकाहै।

प्रयागराजकेपरेडमैदानमेंपहलीबारसिर्फमहिलाओंकाविशालसंगमहै।इनमहिलाओंनेप्रदेशके58189ग्रामपंचायतमेंरोजगारकीधारापहुंचाईहै।इनविशेषमहिलाओंमें50772सामुदायिकशौचालयकेयरटेकर,22210समूहसखी,6179बैंकसखी,54715बीसीसखी,8018आजीविकासखीहैं।इसीतरह15434विद्युतसखी,4040टेकहोमराशनसंचालिका,79500स्वयंसहायतासमूहकीमहिलाएंहैं।कन्यासुमंगलयोजनाके31600लाभार्थीभीशामिलहैं।यहकारवांनिरंतरआगेबढ़ताजारहाहै।इनकेविश्वासकोनईधारमिलीहै,आनेवालेदिनोंमेंआधीआबादीसमाजमेंनयापरिर्वतनकरनेजारहीहै,जोसमाजकेलिएनईमजबूतीप्रदानकरनेवालाहोगा।