पिछले 20 साल से बस रहीं झुग्गियां, परेशानी बढ़ी

जागरणसंवाददाता,साहिबाबाद:

इंदिरापुरमकेशक्तिखंड-चारमेंपिछले20सालसेझुग्गियांबसतीजारहीहैं।अबयहांपरएकहजारसेअधिकझुग्गियांहोगईहैं।येझुग्गियांअबस्थानीयलोगोंकेलिएपरेशानीकासबबबननेलगीहैं।आरोपहैकिझुग्गियोंमेंगांजा,चरस,अफीमबेचनेकेसाथअन्यगलतकामहोतेहैं।यहांकेबच्चेसोसायटियोंमेंपहुंचकरलोगोंकेघरोंमेंचोरीकररहेहैं।कईबारसीसीटीवीकैमरेमेंभीचोरीकरतेदिखाईदिएहैं।

पार्षदमंजुलात्यागीकेमुताबिकपिछले20सालसेशक्तिखंड-चारमेंझुग्गियांलगातारबसरहीहैं।गाजियाबादविकासप्राधिकरण(जीडीए)वप्रशासनकीओरसेकोईकार्रवाईनहींकीगई।इससेअबएकहजारसेअधिकझुग्गियांहोगईहैं।जीडीएअधिकारियोंसेकईबारशिकायतकीगईहै,लेकिनझुग्गियोंकोनहींहटायाजारहाहै।कुछझुग्गियांहटाईजातीहैंतोदोबारानिर्माणहोजाताहै।झुग्गियोंकेलोगखुलेमेंशौचकेलिएजातेहैं।इससेशक्तिखंड-चारमेंगंदगीफैलरहीहै।

सुविधाएंदेनेपरभीसवाल:

लोगोंकाकहनाहैकिजबझुग्गियांअवैधतरीकेसेबसीहैंतोइनमेंविद्युतनिगमकीओरसेबिजलीकनेक्शनक्योंदियागया?वहीं,पानीकाभीकनेक्शनदियागयाहै।जल्दसेजल्दपानीऔरबिजलीकनेक्शनकाटाजानाचाहिए।झुग्गियोंमेंरहरहेलोगोंकोबोलनाचाहिएकिवहकिरायेकेकमरेमेंरहें।

बढ़रहीपरेशानी:

शक्तिखंडचारनिवासीविकासकाकहनाहैकिझुग्गियोंमेंनशीलेपदार्थबिकतेहैं।साथहीअन्यगलतकामभीहोतेहैं।झुग्गियोंमेंरहनेवालेबच्चेआसपासकीसोसायटियोंमेंघूमतेहैं।मौकामिलनेपरचोरीकरफरारहोजातेहैं।कईबारबच्चेचोरीकरतेहुएसीसीटीवीकैमरेमेंदिखाईदिएहैं।आरोपहैकिपुलिसजांचनहींकरतीहै।यहांपरबांग्लादेशीबसतेजारहेहैं।जल्दसेजल्दकार्रवाईहोनीचाहिए।

------जिसजमीनपरझुग्गियांहैं।उसमेंजीडीएकेसाथएकव्यक्तिकीभीहैं।जीडीएकीजमीनसेकईबारझुग्गियोंकोहटायागया,लेकिनदोबाराझुग्गियांबनालेतेहैं।हंगामेकेआसाररहतेहैं।कार्रवाईकेदौरानपुलिसफोर्सनहींमिलतीहै।पीएसीलेकरअतिक्रमणहटानेकेकार्रवाईकीजाएगी।

-एकेचौधरी,अधिशासीअभियंताजीडीए