फसलों को बचाने के लिए किसान बने चौकीदार

अंबेडकरनगर:क्षेत्रकेकिसानोंकोबेसहारापशुओंसेअपनीफसलबचानेकेलिएचौकीदारबननापड़रहाहै।अबतककिसानखेतोंसेचिड़ियाहीउड़ातेथेलेकिन,बीतेकुछसालोंसेबेसहारापशुउनकेलिएमुसीबतबनेहुएहैं।

कटेहरीविकासखंडकेगांवहीड़ीपकड़िया,आदमपुरतिदौली,बरामदपुरजरियारी,घनेपुर,रामबाबा,सारंगपुर,बरहा,सिलावट,पांती,पतौना,मंशापुर,मीरपुर,महरुआ,लोकनाथपुर,सेहराजलालपुर,सरखानेआदिगांवोंमेंकिसानोंकोदिन-रातचौकीदारीकरनीपड़रहीहै।रबीकीफसलसरसों,आलू,चना,मटरकेअलावासब्जीकीफसलेंउगाईजातीहैं।इनमेंसेकईफसलकोतोपक्षीबहुतनुकसानपहुंचातेहैं।लेकिन,अबबेसहारापशुभीखेतोंमेंझुंडमेंघुसकरफसलोंकोनष्टकररहेहैं।किसानअभिषेकसिंह,राजाराममौर्य,रवींद्र,विजयबहादुरवर्मा,नंदलालवर्मा,जगदीशप्रसादमौर्य,अभयराज,राकेशकुमार,मलखानसिंहसंतोषधुरिया,लल्लनआदिनेबतायाकिआलूतथासब्जीकीखेतीमेंपशुओंनेबहुतनुकसानपहुंचाया।इससमस्याकेलिएउच्चअधिकारियोंकोज्ञापनभीसौंपाथा।कुछदिनतकयेपशुसरकारीगोशालामेंरहे,फिरयहपशुगांवकारुखकरगए।वर्तमानमेंपशुसब्जीकीखेतीकोनुकसानपहुंचारहेहैं।एसडीएमभीटीभूमिकायादवनेबतायाकिकिसानोंकीसमस्याकोलेकरसंबंधितकर्मचारियोंकोपत्राचारकियागयाहै।समस्याजल्दहीदूरहोजाएगी।