फसलों की सुरक्षा को साड़ी का बाड़ बनाकर किसान कर रहे खेती

जागरणसंवाददाता,बरईपार(जौनपुर):हाड़तोड़मेहनतकरकेसबकापेटभरनेवालाअन्नदाताअभीतकनीलगाय,बेसहारापशुओंसेहीपरेशानथा,लेकिनइससमयजंगलीसुअरवबारहसिघाऔरहिरनभीपरेशानीकाकारणबनगएहैं।सईनदीकेतटवर्तीगांवोंकेकिसानोंकाकहनाहैकिइससमयनदीकेकिनारेयहआगएहैं।जोगेहूं,अरहरकीफली,मटरआदिफसलोंकोचरकरनष्टकरदेरहेहैं।इनसेबचावकेलिएकहींसाड़ीकाबाड़तोकहींखंभा-तारलगायागयाहै।इसकेसाथहीकुछस्थानोंपरकिसानदिन-रातखेतोंमेंबैठकररखवालीमेंलगेहैं।

छोड़दिएहैंकईफसलोंकीखेती

जंगलीजानवरोंसेत्रस्तहोकरनदीसेलगभगचारकिमीदूरीतककेअधिकांशकिसानआलू,कंदऔरगन्नाकीखेतीकरनाबंदकरदिएहैं।उनकाकहनाहैकिअबतोखेतीकरनाहीघाटेकासौदाहोगयाहै।किसानरमापतियादव,सत्यप्रकाशयादव,धनौवाकेधर्मेंद्रयादव,राजेपुरकेओमप्रकाशमौर्य,सकरागांवकेजगदीशपांडेय,चंद्रकांत,रविंद्रसिंहनेबतायाकिइससमयनदीकेकिनारेसरपतकेझुरमुटमेंजंगलीसूअरवहिरनदेखेजारहेहैं।यहदिनमेंतोछिपेरहतेहैं,लेकिनरातमेंनिकलकरफसलोंकोचरकरबैठादेरहेहैं।शिक्षकविजयप्रतापयादवनेबतायाकिहमारेगांवशाहपुरमेंजंगलीजानवरगेहूंकीफसलचरकरनुकसानपहुंचारहेहैं।