फोटो 64: लॉकडाउन के सिस्टम पर भारी पड़ रही मुफलिसी की मार

जागरणसंवाददाता,सोनीपत:

कोरोनासंक्रमणरोकनेकेलिएलॉकडाउनसख्तीसेलागूकियागयाहै।लोगोंकोबिनामहत्वपूर्णकामकेघरोंसेबाहरननिकलनेकोकहागयाहै।उनकोचौक-चौराहोंपररोककरजगह-जगहपूछताछकीजातीहै।कईबारपुलिसदौड़ातीहैतोकईबारहड़कातीहै।उसकेबावजूदसड़कोंपरलोगोंकीलाइनलगरहीहै।लॉकडाउनमेंरोजीतोगई,लेकिनरोटीकाजुगाड़तोकरनाहीहै।इसकेलिएमहिलाएंऔरबुजुर्गघरोंसेनिकलबैंकोंऔरराशनडीलरोंकेयहांपहुंचरहेहैं।

लॉकडाउनमेंलोगोंकीरोजीछिनगईहै,लेकिनरोटीतोचाहिएही।सामाजिकसंगठनोंऔरप्रशासनकीओरसेभोजनवराशनवितरणकीव्यवस्थाकीगईहै,लेकिनउसकेअलावाभीघरकीबीसजरूरतेंहोतीहैं।इनकेलिएजरूरतहैरुपयोंकी।सरकारनेजनधनखातोंमेंपिछलेसप्ताहपांच-पांचसौरुपयेडालेथे।उसकेबादमेंजरूरतमंदलोगोंकीपेंशनबैंकोंमेंपहुंचगई।सहायताकेपांचसौरुपयेऔरपेंशनकीधनराशिनिकालनेकेलिएलोगोंकोबैंकजानापड़रहाहै।इसकेलिएवहसुबहसेहीबैंकोंकेबाहरजाकरखड़ेहोजातेहैं।ऐसेमेंफिजिकलडिस्टेंसकासुरक्षाघेराकईबारटूटजाताहै।

वहींराशनडीलरकेमाध्यमसेखाद्यान्नकावितरणकियाजारहाहै।खाद्यान्नलेनेकेलिएभीलोगोंकोलंबीलाइनोंमेंखड़ाहोनापड़रहाहै।खाद्यान्नवितरणकेदौरानबैंयापुरमेंलोगोंकीभीड़जमाहोनेपरपुलिसमौकेपरपहुंचीऔरइनकोदूर-दूरखड़ेकिया।घर-घरतकखाद्यान्नपहुंचानेकीप्रशासनकीयोजनागरीबोंकीकॉलोनियोंमेंकारगरनहींहोरहीहैं।इनकोकईबारपुलिसहड़कातीहैतोकईबारसमझातीहै।

लोगपांच-पांचसौरुपयेनिकालनेकेलिएबैंकोंकेबाहरघंटोंतकलंबीलाइनमेंलगेरहतेहैं।सुरक्षाकेचलतेबैंकोंमेंएक-एकव्यक्तिकोहीसैनिटाइजकराकरप्रवेशदियाजारहाहै।बाहरपुलिसलगाकरलोगोंकोदूरीबनाकरलाइनोंमेंखड़ेकरानापड़रहाहै।हमनेअपीलकीहैअपनीजरूरतकेअनुसारकभीभीआकररुपयेनिकललें,एकसाथभीड़नलगाएं।

-तुलाराम,एलडीएम,सोनीपत