पहले की मातृभूमि की सेवा, अब लड़ रहे हैं कोरोना संक्रमण से

अभिषेकशर्मा,फरीदाबाद:भारतीयसेनामेंरहकरअपनीमातृभूमिकीरक्षाकाफर्जनिभानेकेबादअबतेजपालशर्माकोरोनासेजंगमेंअपनेसामाजिकदायित्वकोनिभारहेहैं।कोविडड्यूटीकेदौरानजूनमेंतेजपालसंक्रमितभीहोगएथे,लेकिनकोरोनाकासंक्रमणभीसामाजिककर्तव्यकोनिभानेकेहौंसलेकोनहींतोड़पाया।कोरोनाकोमातदेकरदोबारासेकोविडड्यूटीमेंलगगएहैं।उन्हेंमोबाइलवैनकाचालकबनायागयाहै।

तेजपालशर्मानेबतायाकिसेनाकीटुकड़ीमेंशामिलहोनेसेपूर्वप्रशिक्षणकेदौरानविपरीतपरिस्थितियोंमेंभीमस्तिष्कऔरध्यानकोस्थिररखनेकीसीखदीजातीहै।प्रशिक्षणकेदौरानदीगईयहसीखकोरोनासंक्रमणकेदौरानकाफीकामआई।संक्रमितहोनेकापताचलनेकेबादबिल्कुलभीघबरायानहींऔरघरमेंसबकोबतानेकेबादखुदकोपरिवारसेअलगकरलिया।तेजपालकोअपनेनातीपोतोंसेबहुतलगावहै,लेकिनउन्हेंभीअपनेकरीबनहींआनेदिया।दसदिनमेंपरिवारसेअलगरहनेकेबाददोबारासेजांचकराई,तोरिपोर्टनेगेटिवआईऔरदोबारासेमोबाइलवैनकीस्टेयरिंगसंभालली।बड़ेअधिकारियोंकेबनचुकेहैंसारथी

तेजपालशर्मानेबतायाकिवेउपायुक्त,अतिरिक्तउपायुक्त,मुख्यचिकित्साअधिकारीसहितकईबड़ेअधिकारियोंकेवाहनोंकेचालकरहचुकेहैंऔरआजभीअधिकारीउन्हेंयादकरतेहैं।गर्मवस्तुओंकेसेवनसेकोरोनारहेगादूर

कोरोनाकोमातदेनेकेबादतेजपालअपनेअनुभवोंकोनएसंक्रमितोंकेसाथअवश्यसाझाकरतेहैं।सबसेपहलेवहउन्हेंहौसलाबनाएरखनेकीप्रेरणादेतेहैं।इसकेअलावावहसंक्रमितोंकोदवाओंकेसाथगर्मपानी,भाप,आयुषकाकाढ़ादिनमेंदोबारअवश्यलेनेसलाहदेतेहैं।इसकेअलावासरकारद्वाराहोमआइसोलेशनकेबनाएगएनियमोंकापालनेकरनेकीभीसलाहदेतेहैं।यशपालकेअनुसारअनुभवसाझाकरनेसेदूसरेसंक्रमितकोकोरोनासेलड़नेकीशक्तिमिलतीहै।सभीसंक्रमितोंसेठीकहोनेकेबादप्लाज्मादेनेकीभीअपीलकरतेहैं।