पहले गोपालगंज अब यहां, आखिर कितनी बार होना होगा क्वारंटाइन

मधुबनी।अपनेपरिजनोंसेमिलनेकीआसऔरघरलौटनेकीजद्दोजहदमेंभूखे,प्यासलोगसैकड़ोंमीलकीयात्राजैसे-तैसेकी।जोवाहनमिलेउसमेंलदगए।रिक्शा,ठेला,साइकिलकाभीसहायतालिया।कुछनहींमिलातोपैदलहीचलदिए।मगर,उन्हेंक्यापताथाकिसफरकाएकमाहपूराहोनेपरभीवेघरतकनहींपहुंचपाएंगे।प्रखंडकेसागरपुरब्रह्मोत्तरास्थितप्लसटूअनूपलालपरियोजनाबालिकाउच्चविद्यालयमेंबनेक्वारंटाइनमेंरहरहे66लोगोंकीयहीदशाहै।इनमेंजिलेकेबेनीपट्टी,हरलाखीमधवापुरवबासोपट्टीकेलोगहैं।गुरुवारकोजबहमइनकाजायजालेनेपहुंचेतोसभीकाचेहराउतराहुआथा।

कोईबेटेकानहींदेखसकामुंहतोकोईमांका

बेनीपट्टीनिवासीसूरजकुमारनायकरोतेहुएकहतेहैं,पांचअप्रैलकोहीजयपुरसेघरकेलिएनिकलाथा।गोपालगंजकेपाससबोंकोरोकलियागया।स्क्रीनिगजांचकेउपरांतउन्हेंक्वारंटाइनमेंरखागया14दिनोंकीयहअवधिपूरीहुईहीथीकिमधुबनीजिलाप्रशासनउन्हेंवहांसेबिनाकिसीप्रमाणपत्रोंकेउठालाया।इसकेबादयहांक्वारंटाइनकरदियागया।बुधवारकोउसकेदोसालकेबेटेकीगांवमेंमृत्युहोगईहै।दुर्भाग्यऐसाकिवहयहांफंसाहुआहै।निराशाकेभावमेंकहा,कितनेदिनोंतकक्वारंटाइनहोनाहोगा।पहलेगोपालगंजमें14दिनोंकाअबयहांहैं।फिरयहांसेजबगांवजाएंगेतोवहांकेजनप्रतिनिधिऔरप्रशासनिकपदाधिकारी14दिनोंकेलिएक्वारंटाइनकरदेंगे।इसतरहदोमाहइसमेंहीगुजरजाएगा।इससेअच्छाहोताकिजयपुरमेंहीभूखेप्यासेमरजाते।कमसेकमप्रताड़नासेतोबचते।

बरगामानिवासीगंगारामयादवभीमायूसहोकहनेलगे,पांचभाइयोंमेंसेसभीबड़ेचारभाईगोरखपुरमेंकामकरतेथे।जबतकपैसाथा,वहांरहे।मगर,जबभूखेरहनेकीनौबतआगईतोनिकलपड़े।इसबीचघरपरमांकीमृत्युहोगई।यहांसभीभाईएकक्वारंटाइनसेंटरसेदूसरेमेंभटकरहेहैं।हालातयहहैकिमांकाश्राद्धकर्मतोदूरकोईकर्मनहींकरापाए।बरगामाकेहीमनीषपासवाननेकहा,कहां-कहांक्वारंटाइनहोनाहोगा।पहलेगोपालगंजमेंअबपंडौलमेंहैं।फिरगांव..।एकप्रकारसेवेकैदियोंकीजिदगीजीरहेहैं।यहांप्रशासनकीओरसेभोजनकीव्यवस्थासहीहै।पीनेकेपानीकीसमस्याहै।एकचापाकलहै।मगर,परंतुउसकापानीपीनेलायकनहींहै।इसकीशिकायतपदाधिकारियोंसेकीगईतोपंचायतकेमुखियानेपानीटैंकरकीव्यवस्थाकरवाईहैं।

66लोगोंकेबीचएकशौचालय

66लोगोंकेबीचमहजएकशौचालयहै।इसमेंस्वच्छताऔरसफाईकीकोईव्यवस्थानहींहै।यहांफिजिकलडिस्टेंसिगहैनाकोईदूसरीसुविधा।ऐसेमेंसंक्रमणकाखतरातोबनाहीरहेगा।अन्यलोगोंकेसाथरखेजानेकेकारणजोसंक्रमितनहींभीहैंउसेखतराबनाहुआहै।विद्यालयकेमेनगेटमेंतालालगादियागयाहै।जबभोजनयापानीआताहैतोगेटखोलकरदेदियाजाताहै।गेटकेबाहरतैनातमजिस्ट्रेटबीईओयोगेन्द्रचौधरी,मो.फैसुलअंसारी,सकरीथानाकेएएसआईरामजीवअन्यसिपाहीखुलेमेंपेड़केनीचेबैठकरड्यूटीदेरहेहैं।इनकेलिएभीकिसीप्रकारकीसुविधानहींहै।यहांतककिपीनेकापानीभीनहींहै।पानीकाटैंकरआयाभीतोवेस्कूलकेभीतरक्वारंटाइनमेंरहरहेलोगोंकेलिएचलागया।ड्यूटीपरतैनातकर्मीवहींनिकटमेंएकव्यक्तिकेआवासपरपानीपीनेयाअपनालायाहुआलंचखानेचलेजातेथे।इसकेलिएगृहस्वामीनेभीमनाकरदियाहै।उन्हेंभीसंक्रमणकाडरहै।रातकोड्यूटीकरनेवालेविद्यालयकेगेटकेसामनेबिस्तरबिछासोजातेहैं।

बीडीओमहेश्वरपंडितकेनेबतायाकिक्वारंटाइनसेंटरपररहरहेसभीलोगोंकेलिएभोजनपानीऔरबिस्तरकीपर्याप्तसुविधाहै।वरीयपदाधिकारियोंसेवार्ताभीहोरहीहै।संभवत:सबोंकोगृहप्रखंडकेक्वारंटाइनसेंटरमेंरखाजाए।सभीकीमेडिकलजांचकरवाईजाएगी।अबजबकिकेंद्रीयगृहविभागनेभीसभीराज्योंकेलोगोंमेंफंसेमजदूरोंकोगृहराज्यवापसजानेकीअनुमतिदेदीहै।