पहले दिन की उपस्थिति ने बताया कि घर में ऊब चुके हैं बच्‍चे, आना चाहते हैं स्‍कूल

गणेशपांडे,हल्द्वानी:कोरोनाकीभयावहदूसरीलहरकोहरकिसीनेमहसूसकिया।बच्चेभीइससेअछूतेनहींथे।परिवार,रिश्तेदारीयाकॉलोनीमेंपड़ोसीजबकोरोनासेजूझरहाथा,तबविद्यार्थीघरोंमेंसहमेथे।परीक्षाएंतकछूटगई।अबतीसरीलहरकोलेकरचेतायाजारहाहै।ऐसेवक्तमेंस्कूलखुलनेकेपहलेदिन40से50प्रतिशतउपस्थितिरही।फूलचौड़में72प्रतिशतबच्चेपहुंचे।विद्यार्थियोंनेजतादियाकिवेकक्षामेंपढऩाचाहतेहैं।ऑनलाइनपढ़ाईविकल्पहोसकतीहै,लेकिनबेहतरसीखनेकेलिएस्कूलजरूरीहै।

अधिकछात्रसंख्यावालेस्कूलदोपालीमेंसंचालित

फिलहालनौवींसे12वींकक्षाओंकेबच्चोंकोस्कूलबुलायाजारहाहै।हल्द्वानीमेंसरकारीवसहायताप्राप्तअशासकीयस्कूलोंमेंकक्षाएंशुरूहोगईहैं।प्राइवेटस्कूलसंचालकोंनेविद्यालयबंदरखेहैं।शहरमेंअधिकछात्रसंख्यावालेस्कूलदोपालीमेंसंचालितहोरहेहैं।जबकिकुछस्कूलोंनेकक्षावारअलग-अलगदिनबच्चोंकोबुलायाहै।पहलेदिनअपेक्षानुरूपअच्छीउपस्थितिरही।वहीं,बीईओहरेंद्रमिश्रानेबतायाकिदोपालियोंमेंस्कूलचलानेपरशनिवारकोभीस्कूलखोलनेकाविकल्परखागयाहै।

क्‍याकहास्‍टूडेंटसने

कालाढूंगीरोडपरस्थितजीजीआइसीमेंपढ़नेवाली11वींछात्रापूजाबिष्टनेकहाकिमोबाइलयाफिरवर्कशीटसेबेहतरपढ़ाईनहींहोसकती।हां,यहजरूरहैकिइससेपढ़ाईसेजुड़ावबनारहाहै।स्कूलखुलनेसेखुशहूं।जबकिनेहाजोशीकाकहनाहैकिस्कूलखुलनेसेपढ़ाईबेहतरहोसकेगी।पहलेहीपढ़ाईकाकाफीनुकसानहोचुकाहै।कोरोनासेबचावकेलिएहमहरउपायअपनारहेहैं।आरतीराजपूतनेबतायाकिस्कूलखोलनेकाफैसलाअच्छाहै।स्कूलआनेसेअच्छीपढ़ाईहोसकेंगी।कईमहीनोंबादअपनेसाथियोंसेमिलकरकाफीअच्छालगरहा।

शिक्षकोंनेक्‍याकहा

जीजीआइसीकालाढूंगीरोडकीप्रधानाचार्यदेवकीआर्याकाकहनाहैकिबच्चोंकीपढ़ाईकापहलेहीकाफीनुकसानहोचुका।इसेदेखतेहुएदोपालीमेंपढ़ाईकराईजारहीहै।कोविडगाइडलाइनकापालनकरारहेहैं।खालसाबालिकाइंटरकॉलेजकीप्रधानाचार्यकमलासैननेबतायाकिछात्राओंकीअधिकसंख्याकोदेखतेहुएएककक्षाकोसप्ताहमेंतीनदिनचलानेकीतैयारीहै।विभागकोस्कूलसेकोविडसेंटरहटानेकोलिखरहेहैं।