फिर घाटे में जाने लगा मऊ रोडवेज

जागरणसंवाददाता,मऊ:पिछलेचार-पांचदिनोंमेंमऊरोडवेजसेजानेवालेयात्रियोंकीसंख्यातेजीसेघटीहै।पहलेजहांयात्रीदोपहरकेसमयबसेंनहोनेपररोडवेजप्रांगणमेंबसोंकीमांगकरतेहुएहंगामाकरतेनजरआतेथे,वहींअबसन्नाटापसरानजरआरहाहै।नागरिकतासंशोधनकानूनकोलेकरजगह-जगहहुएउपद्रवकेबादहालातबदलगएहैं।अधिकांशरूटोंपरदिनकेसमयबसेंखालीहीदौड़रहीहैं।यात्रियोंकीसंख्याकमहोनेकेचलतेरोडवेजकोप्रतिदिनलगभगएकलाखरुपयेकेराजस्वकाघाटाउठानापड़रहाहै।

मऊडिपोसेहोकरप्रतिदिनऔसतनपांचहजारयात्रीगुजरतेहैं,लेकिनउपद्रवकेबादसेइससंख्यामेंकाफीकमीआईहै।नागरिकतासंशोधनकानूनकेविरोधऔरउपद्रवसेपहलेजहांमऊडिपोकोप्रतिदिनऔसतन5.7लाखरुपयेकाराजस्वप्राप्तहोताथा,वहींअबयहघटकरपांचलाखरुपयेकेआस-पासरहरहाहै।अधिकांशरूटोंपरबसेंपूरीतरहनहींभरपारहीहैं।ज्यादातरबसोंकोदस-बीसयात्रियोंकोलेकरहीदौड़तेदेखाजारहाहै।दोपहरकेसमयबड़ीसंख्यामेंगोरखपुरजानेकेलिएयात्रीप्लेटफार्मपरखड़ेदिखतेथे,लेकिनअबउसीप्लेटफार्मपरदोपहरसेलेकरशामतकसन्नाटायाफिरइक्का-दुक्कालोगहीबसोंकाइंतजारकरतेनजरआरहेहैं।यात्रियोंकेअभावमेंआधादर्जनबसेंरोडवेजप्रांगणमेंखड़ीरहजारहीहैं।यात्रियोंकीसंख्याघटनेसेकुछबसोंकेफेरेभीघटादिएगएहैं।

यात्रियोंकीसंख्यामेंकमीआईहै,जिससेराजस्वसंग्रहमेंपिछलेपांचदिनोंसेलगभगएकलाखरुपयेकेआस-पासकीकमीदेखीजारहीहै।

-विवेकानंदत्रिपाठी,एआरएम,मऊडिपो।