पेड़ पर आ रहे ढाई किलो के नींबू

जागरणसंवाददाता,रेवाड़ी:पेड़परढाईकिलोकानींबू।सुनकरअचंभाहोरहाहोगालेकिनयहपूरीतरहसेसहीहै।जिलेकेगांवगोठड़ाटप्पाडहीनामेंएककिसानद्वारालगाएगएपौधेपरढाईकिलोकेनींबूलगरहेहैं।इतनेबड़ेनींबूदेखकरहरकोईहैरानहै।युवकद्वारागिनीजबुकआफव‌र्ल्डरिकार्डमेंनामदर्जकरानेकेलिएआवेदनकियागयाहै।आर्गेनिकतरीकेसेलगायागयाहैपौधागोठड़ाटप्पाडहीनानिवासीआशुतोषनेअपनीजमीनपरकुछसमयपूर्वनींबूकापौधालगायाथा।पेड़परअबनींबूलगनेशुरूहोगएहैं।अहमबातयहहैकिपेड़परलगरहेनींबूखासेबड़ेआकारकेहैं।दोसेढाईकिलोतककेनींबूलगरहेहैं।बड़े-बड़ेनींबूलगनेकीजानकारीमिलनेपरगांवकेसरपंचसुरेशचौहानमौकेपरगएऔरअपनेसामनेपेड़सेनींबूतोड़करकांटेपररखातोउसकावजन2किलो260ग्रामथा।आशुतोषनेबतायाकिपौधेकोपूरीतरहआर्गेनिकखाददीगईहै।उसीकेकारणनींबूकावजनइतनाअधिकहोगयाहै।ग्रामीणपहुंचरहेनींबूदेखनेपेड़परलगरहेनींबूकीचर्चासुनकरबड़ीतादादमेंग्रामीणपहुंचरहेहैं।ग्रामीणनींबुओंकेसाथफोटोभीखिचवारहेहैं।इतनेबड़े-बड़ेनींबूदेखकरहरकोईहैरानहै।किसानशक्तिकाकहनाहैकिआर्गेनिकखादकाइस्तेमालकरनेसेहीनिश्चिततौरपरनींबूकाआकारइतनाबड़ाहुआहै।वहखुदइसकोलेकरआश्चर्यचकितहैं।