पौधारोपण के माध्यम से पर्यावरण का संरक्षण संभव

बोकारो:दिव्यार्थीएवंसीआरपीएफ26वींबटालियनकीओरसेशनिवारकोकैंपपरिसरमेंपौधारोपणकार्यक्रमकाआयोजनकियागया।सीआरपीएफ26वींबटालियनकेकमांडेंटकमलेंद्रप्रतापसिंहनेवनमानवएवंपशु-पक्षियोंकेलिएमहत्वपूर्णहै।इससेफल,फूल,औषधि,लकड़ीकेअलावाकईप्रकारकेउपयोगीउत्पादकीप्राप्तिहोतीहै।यहपशु-पक्षियोंकाआश्रयस्थलभीहै।वनवर्षाकोआकर्षितकरतेहैं।मिट्टीकेकटावकोरोकतेहैं।पेड़कीपत्तियांप्रकाशसंश्लेषणकीक्रियासेवायुमंडलसेकार्बनडाइऑक्साइडगैसकाअवशोषणएवंऑक्सीजनगैसकाउत्सर्जनकरतीहैं।इससेवायुमंडलमेंऑक्सीजनकीमात्रासंतुलितरहतीहै।पेड़छायाभीप्रदानकरतेहैं।इसलिएवनकीकटाईनहींकरनीचाहिए।प्रत्येकव्यक्तिकोपौधालगानाचाहिए।बोकारोस्टीलप्लांटकेमहाप्रबंधकएकेसिन्हानेकहाकिसीआरपीएफकैंपपरिसरमेंश्रीफल,पीपल,बरगद,नीम,जामुन,शहतूतवकटहलकेपौधेविशेषविधिकेतहतलगाएगएहैं।इसविधिकेमाध्यमसेपौधेतेजीसेबढ़ेंगे।साथहीअधिकमात्रामेंऑक्सीजनकाउत्सर्जनवकार्बनडाईऑक्साइडकाअवशोषणकरेंगे।पूरेपरिसरकोवाटरहार्वेस्टिगसिस्टमकेआधारपरतैयारकियागयाहै।इसलिएयहांवर्षाजलकीबर्बादीनहींहोगी।पूरेक्षेत्रमेंजैवविविधताकोबढ़ावामिलेगा।समाजसेवीराणाहलदरएवंमौसमीहलदरकीओरसेपौधेउपलब्धकराएगए।दिव्यार्थीकीआरतीसिन्हा,सीआरपीएफ26वींबटालियनकेडिप्टीकमांडेंटपंकजमिश्रा,द्वितीयकमानअधिकारीसुनीलकुमारराहीवद्वितीयकमानअधिकारीनारायणबलाईनेभीपौधारोपणपरबलदिया।इसदौरानकमांडेंटकमलेंद्रप्रतापसिंह,बीएसएलकेमहाप्रबंधकएकेसिन्हा,दिव्यार्थीकीआरतीसिन्हा,सीआरपीएफ26वींबटालियनकेडिप्टीकमांडेंटपंकजमिश्रा,द्वितीयकमानअधिकारीसुनीलकुमारराहीवद्वितीयकमानअधिकारीनारायणबलाईकेअलावाअधिकारीवजवानोंनेश्रीफल,पीपल,बरगद,नीम,जामुन,शहतूतवकटहलकेलगभग600पौधेलगाए।