पार्षदों का विरोध आया काम, नगर निगम ने गोबर प्रबंधन के नाम पर मासिक शुल्क से पीछे खींचे कदम

जागरणसंवाददाता,रोहतक:

नगरनिगमकेपार्षदोंकाविरोधकामआयाहै।पार्षदोंनेगोबरऔरपशुप्रबंधनकेनामपरपशुपालकोंसेकीजानेवाले150रुपयेकीमासिकवसूलीकाकड़ाविरोधकियाथा।पार्षदोंकीचेतावनीकेबादनगरनिगमनेखुदकेकदमपीछेखींचलिएहैं।अबशुल्कनहींलियाजाएगा।हालांकिपशुओंकेपंजीकरणऔरपशुगणनाकाकार्यजारीरहेगा।पार्षदोंकोयहभीडरहैकिअभीशुल्कनलेनेकावादाकरदे।बादमेंशुल्ककाफैसलालेलियाजाए।इसलिएभविष्यमेंभीइसतरहकाफैसलालागूनहींहोगा,इसकेलिएजल्दहीहाउसकीबैठकबुलाईजाएगी।इसकेसाथहीअधिकारियोंसेइसप्रकरणमेंजवाबमांगाजाएगा।

नगरनिगमकेअधिकारियोंनेफैसलालियाथाकि27दिसंबरतकहरहालमेंपशुओंकीगणनाऔरपंजीकरणकार्यपूराकरनाहै।फिलहालसभी22वार्डोंकेलिए10-10सदस्यीयटीमगठितकीगईहैं।यहटीमेंलगातारसर्वेकेकार्यसेजुड़ीहुईहैं।सोमवारतकसर्वेकाकार्यपूराहोनाहै।इसलिएटीमेंसोमवारकोसक्षमयुवाओंकेसाथमैदानमेंफिरसेदिखेंगी।बेशकनिगमकेअधिकारियोंनेप्रतिपशुप्रतिमाह150रुपयेशुल्कवसूलनेकाफैसलावापसलेलियाहो,लेकिनपार्षदोंकीनाराजगीनहींथमीहै।पार्षदोंकोडरहैकिकहींभविष्यमेंपंजीकरणऔरपशुगणनाकेबादजनताविरोधीफैसलेकोलागूकियाजासकताहै।इसलिएहाउसकीबैठकमेंअधिकारियोंकोबतानाहोगाकिनेशनलग्रीनट्रिब्यूनलकेआदेशपरयदिफैसलागयाहैतोलिखितमेंबतायाजाए।ट्रिब्यूनलकेदूसरेभीफैसलेहैं,उन्हेंलागूकरनेमेंनिगमकेअधिकारीपीछेक्योंहैं।

बेशकनगरनिगमकेअधिकारियोंनेपशुएवंगोबरप्रबंधनकेलिएमासिकप्रतिपशु150रुपयेशुल्कवसूलनेकाफैसलावापसलेलियाहो,लेकिनभविष्यमेंइसतरहकाफैसलालागूकियाजासकताहै।नगरनिगमकेअधिकारियोंकोबतानाहोगाकिजनविरोधीफैसलालागूक्योंकियागया।यदिग्रीनट्रिब्यूनलकेआदेशोंकापालनकरनाहैतोअमृतयोजनाकाक्याहालहैकोईपूछनेवालानहीं।सड़केंटूटीपड़ीहैंविकासकार्यठपहैं।ट्रिब्यूनलकेदूसरेआदेशोंकापालनभीअधिकारीकराएं।

अनिलकुमार,डिप्टीमेयर,नगरनिगमअधिकारियोंकीनीतिऔरनीयतमेंखोटहै।वार्डोंमेंनगरनिगमकीटीमेंपशुगणनाकरनेपहुंचरहींहैं।टीमेंलगातारधौंसदेतीहैं।पशुपालकोंकेसाथअभद्रतातकहोरहीहैं।अधिकारियोंकोबतानाचाहिएकिकिसेलाभपहुंचानेकेलिएगोबरउठानेकीसाजिशरचीजारहीहै।नगरनिगमकोहाउसकीबैठकमेंजवाबदेनाहोगा।

कृष्णसेहरावत,पार्षद,वार्ड-1