पानी से दूर हो रहे हम, बंद करें दुरुपयोग

बस्ती:जलहीजीवनहै।जलकेबगैरजीवननहीं।यहसत्यस्वीकारकरजलसंरक्षणकेलिएहरकदमबढ़नेचाहिए।आजकेइसदौरमेंपानीसेहमदूरहोतेजातेरहेहैं।समयसेसजगनहींहुएतोआनेवालेसमयमेंबूंद-बूंदपानीकोतरसनापड़ेगा।बुंदेलखंडऔरबांदाजनपदमेंपानीकेलिएमारामारीकीस्थितिकासंकेतनदियोंसेघिरेइसजनपदमेंभीमिलनेलगाहै।बड़ीमुश्किलसेपानीमिलरहाहै।जहां-तहांपानीकासंकटगहराभीगयाहै।शहरसेलगायतग्रामीणक्षेत्रतकभू-गर्भजलस्तरतेजीसेघटरहाहै।खेतोंसेनमीगायबहै।धरतीतपरहीहै।घरोंकेनलबेपानीहोगएहैं।शहरकेदर्जनभरमोहल्लोंमेंपानीकेमोटरसेभीनलसेपर्याप्तपानीनहींनिकालपारहाहै।आवासविकास,पिकौराशिवगुलाम,तुरकहिया,ओरीजोत,बैरिहवाआदिमोहल्लोंकेअधिकांशघरोंमेंटंकीभरनेमेंआवश्यकतासेअधिकसमयलगरहाहै।बावजूदइसकेजलसंरक्षणकेप्रतिजागरूकतानहींहै।

मशीनीकरणसेपानीकाहोरहाक्षरण

धरासेपर्याप्तपानीनिकालनेकेलिएअबदोसेतीनगुनीगहराईमेंबोरिगहोरहीहै,वहींमशीनीकरणकाउपयोगभीबढ़गयाहै।चहुंओर150से200फिटगहराईतकबोरिगहोरहीहै।इसमेंसमरसेबलऔरपानीकामोटरफिटकियाजारहाहै।पानीकेक्षरणकीएकवजहमशीनीकरणभीहै।जरूरतसेज्यादापानीकाउपयोगकियाजारहाहै।वाहनधुलाई,कपड़ाधुलाई,सिचाईआदिमेंभूमिगतपानीकाउपयोगखूबकियाजारहाहै।जिससेजलस्तरप्रभावितहोरहाहै।

धराहरियालीगायबहोनाशुरूहुईतोतालाब,पोखरेभीसूखनेलगे।तापमानबढ़तेहीतालाब,पोखरोंकापानीसूखजारहाहै।कईजगहतोपोखरेभीगुमहोगएहैं।नदियोंमेंभीपानीनकेबराबरहै।पशु-पक्षियोंकोभीजलसंकटसेजूझनापड़रहाहै।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप