पानी की कीमत प्‍यासा ही जानता है, इसेे बर्बाद न करें Aligarh news

अलीगढ़,जेएनएन:भूगर्भजलकागिरतास्तरचिंताकाविषयबनाहुआहै।सरकारीविभागभीइसओरलोगोंकाध्यानआकर्षितकरनेकापुरजोरप्रयासकररहेहैं।खासकरकृषिविभागइसविषयकोगंभीरतासेलेरहाहै।यहीवजहहैकिविभागकेसभीसोशलग्रुपजलसंचयकीनसीहतोंसेभरेहुएहैं।वाट्सएपग्रुपपरजलसंकटकेचलतेहोनेवालीदुश्वारियोंसेकिसानोंकोअवगतकरायाजारहाहै।वर्चुअलमीटिंगमेंभीइन्हींविषयोंपरचर्चाहोतीहैं।बुधवारकोभीकृषिअधिकारियोंनेकिसानोंकोजलसंचयकीसलाहदी।

पानीहमारेजीवनकाआधार

कृषिअधिकारीरागिबअलीनेकहाकिपानीहमारेजीवनकाआधारहै।पानीनिश्शुल्कप्राकृतिकदेनहै।इसकीकीमततोप्यासाहीजानताहै।जबकि,इसीपानीकोबर्बादकियाजारहाहै।आवश्यकतासेअधिकपानीकाउपयोगकिसानकररहेहैं।पानीहीनहींप्रकृतिकोभीनुकसानपहुंचायाजारहाहै।हमारीहरजरूरतप्रकृतिसेहीपूरीहोतीहैं।पानीकासंकटयाअन्यकिसीआपदाकेनिराकरणकेलिएप्रकृतिकोसुदृढ़बनानाहोगा।इसीलिएजरूरीहैकिप्रकृतिकीप्रत्येकइकाईहवा,पानी,पेड़-पौधे,नदी,तालाब,पहाड़,झरने,जीव-जंतुइत्यादिकोनामिटाएं।उपकृषिनिदेशकडा.वीकेसचाननेकहाकिप्रकृतिमेंजिंदारहनेकाहकजितनाहमकोहै,उतनाहीहकप्रकृतिकीहरइकाईकोभीहै।प्रकृतिकीप्रत्येकइकाईकोइंसानकीजरूरतकेलिएहीबनायागयाहै।इसकासंरक्षणएवंसंवर्धनभीकरनाचाहिए।दुनियाकाभविष्यप्रकृतिकीसमृद्धिपरहीनिर्भरहै।प्रकृतिसलामतरहेगीतोहमभीसलामतरहेंगे।कृषिअधिकारियोंनेकिसानोंकोखेततालाबयोजना,खेतकीमेड़परपौधेलगाने,सूक्ष्मसिंचाईआदिकीजानकारीभीदी।