पांच घरों को ही मिलता है नल का जल

बांका।प्रखंडमुख्यालयकाकंटेन्मेंटजॉनबनावार्डनंबरचारइनदिनोंपानीकीविकटसमस्यासेजूझरहाहै।इसवार्डमेंएकहीपरिवारकेदोभाईकेकोरोनासंक्रमणकीरिपोर्टआनेकेबादप्रशासनद्वाराइसेसीलपरदियागयाहै।ऐसेमेंलोगोकीमुसीबतऔरबढ़गयीहै।

इसवार्डमेंपानीकीसमस्याकेलिएनलजलयोजनाशुरूकीगई।जोएकवर्षपूर्वचालूभीहोगयाहै।परइसकेचालकउत्तमपांडेयकीमनमानीकेकारण80परिवारकीजगहसिर्फपांचपरिवारकोहीआजतकपानीमिलरहाहै।वार्डसदस्यउमाशंकरपांडेयनेबतायाकिपंपचालकइसपानीसेहजारोंकीकमाईकरलेरहाहै।किसीकोघरबनानेकेलिएपानीबेचताहै।जबकिकुछघरोमेंउसवक्तभीपानीबेचताहै,जबकोईउत्सवहोताहै।इतनाहीनहींवहइसीपानीसेअपनीखेतीभीकरताहै।खुदपंपचालककेघरचारकेअलावेतीननंबरवार्डकाभीकनेक्शनलगायागयाहै।कुछजगहोंसेपाइपउखाड़करलेजायागयाहै।इसप्रकारपानीकीसमस्याआजभीबरकरारबनीहुईहै।इससंबंधमेंस्थानीयनिवासीसुधाकरपांडे,पंकजपांडेय,चूड़ामणिपांडे,सत्यप्रकाशपांडेनेबतायाकिहमलोगोंकोइसनलजलसेआजतककोईफायदानहींहुआहै।यहांतककिकुछजगहोंपरपाइपबिछानेकेबादफिरसेउखाड़लियागयाहै।पंपचालकउत्तमपांडेयकाकहनाहैकिबोरिगकाफीकमहोनेकेकारणपानीसभीजगहनहींपहुंचरहीहै।जिसेठीककरानेकालगातारप्रयासकियाजारहाहै।