ओडीएफ का कड़वा सच: घर में शौचालय, फिर भी खुले में कर रहे शौच

जागरणसंवाददाता,रामपुर:गांधीजयंतीकेअवसरपरप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेदेशकोपूरीतरहखुलेमेंशौचमुक्तघोषितकरदियालेकिन,जमीनीहकीकतइससेजुदाहै।आजभीकईगांवोंमेंलोगखुलेमेंशौचकररहेहैं।कईगांवमेंबनेशौचालयकाप्रयोगग्रामीणउपलेरखनेकेकाममेंलेरहेहैं।

गांवोंकोखुलेमेंशौचसेमुक्तकरनेकेलिएपंचायतराजविभागद्वाराघर-घरशौचालयबनवाए।इसकेलिएकरोड़ोंकाबजटजारीहुआ।प्रचार-प्रसारपरभीलाखोंरुपयेखर्चकिए।जिलाओडीएफहोनेपरगांव-गांवस्वच्छतारैलियांनिकालीगईं।प्रधानोंऔरसचिवोंकोसम्मानितभीकियागया।ग्रामीणखुलेमेंशौचनकरें।इसकेलिएभरकसप्रयासकिएगए,लेकिनफिरभीलोगोंकीआदतोंमेंसुधारनहोसका।आजभीकईलोगऐसेहैंजोसवेरेलौटालेकरजंगलकीओरजातेदेखेजासकतेहैं।कईशौचालयआजभीअधूरेपड़ेहैं।ऐसेमेंआसानीसेअंदाजालगायाजासकताहैकियेलोगकहांशौचकरतेहोंगे।गुरुवारकोस्वारब्लाककेलखीमपुरसमेतकईगांवोंमेंदैनिकजागरणटीमनेपड़तालकीतोहकीकतसामनेआई।गांवमेंपायाकिआधादर्जनशौचालयअधूरेपड़ेहैं।उनमेंकूड़ाभीपड़ाहै।ग्रामीणशौचालयकाप्रयोगग्रामीणउपलेरखनेवकूड़ाआदिडालनेकेलिएकररहेहैं।समोदियामेंभीऐसेकईपरिवारमिले।इसकेअलावाभीकईशौचालयऐसेमिले,जिनकाप्रयोगहोतानहींपायागया।इसकेअलावाभोटबक्कालगांवरास्तोंपरपसरीगंदगीहकीकतबतानेकेलिएकाफीहै।ऐसेहीसैदनगरब्लाककेकरनपुर,धूलियागंज,दिलपुरा,खिमोतियादोंकपुरी-टांडासमेतदर्जनोंऐसेहैंजहांलाखोंकीलागतसेबनेशौचालयशोपीसबनकररहगएहैं।सवेरे-सवेरेयहांकेकईवाशिदेजंगलकीओरदौड़लगातेदेखेजासकतेहैं।यहसभीलोगप्रधानमंत्रीकेस्वच्छवनिर्मलभारतकार्यक्रमकेमाथेपरटीकालगारहेहैं।सैदनगरब्लाकखिमोतियाकेप्रधानप्रेमपाललोधीकाकहनाहैकिउन्होंनेगांवमें130शौचालयबनवाएहैं।येसभीचालूहैं।ग्रामीणइनकाप्रयोगभीकररहेहैं।गांवनिवासीबांकेलालकाकहनाहैकिवहअक्सरशौचालयकाप्रयोगकरतेहैं,विशेषपरिस्थितियोंमेंखुलेमेंशौचकोजातेहैं।

श्यामलालकाकहनाहैकिपरिवारसहितशौचालयकाप्रयोगकरतेहैं।अबकोईअसुविधानहींहोती।लीलानाथकाकहनाहैशौचालयकेप्रयोगसेबीमारियांगांवसेदूरहोनेलगीहैं।

पात्रोंकेचयनमेंभीहुईमनमानी

जागरणसंवाददाता,मिलक:क्षेत्रकेकईगांवोंमेंआजभीलोगखुलेमेंशौचकररहेहैं।इसकीकईवजहहैं।कईगांवोंमेंचयनमेंमनमानीकीगईहै।प्रधानोंनेअपनेविरोधियोंकेशौचालयनहींबनवाए।कईलोगोंकेशौचालयबनेहैं,लेकिनखुलेमेंशौचकरनेकीआदतनहींछोड़पारहेहैं।ग्रामीणोंमेंजागरूकताकीभीकमीहै।गांवमेंग्रामप्रधानद्वाराशौचालयकानिर्माणबेहदकमलोगोंकाहीकरायागया।मैंऔरमेरेपरिवारकेसभीसदस्यघरमेंशौचालयनहोनेकेकारणआजभीखुलेमेंशौचकेलिएजातेहैं।हमनेकईबारग्रामप्रधानसेशौचालयनिर्माणकरानेकीगुहारलगाई,लेकिनआजतकहमारानामलिस्टमेंनहींआया।

जयदेव,मोहम्मदनगरकामझराभुतनागांवमेंभारतसरकारद्वाराशौचालयनिर्माणकरानेकीयोजनाआई।हमनेग्रामप्रधानसेअपनेघरमेंशौचालयनिर्माणकरानेकेलिएआवेदनकिया,लेकिनसाल-दोसालकासमयबीतगया।मेरेघरमेंशौचालयकानिर्माणनहींकरायागया।

जोगासिंह,नरखेड़ा।हमारेगांवकोपूरीतरहशौचमुक्तघोषितकरदियागयाहै।हकीकतयहहैकिमेरेजैसेदर्जनोंग्रामीणोंकेघरोंमेंशौचालयकानिर्माणनहींकरायागया।मेरेपरिवारकीमहिलाएं,बच्चेऔरअन्यग्रामीणजिनकेशौचालयनहींबनाएहैं।वेसबखुलेमेंशौचकररहेहैं।

गंगाशरण,क्रमचाकाखेड़ा।गांवमेंसरकारीशौचालयबनाएगए।हमनेभीकईबारप्रधानसेकहाकिहमारेघरमेंभीशौचालयकानिर्माणकरादे,लेकिनहमाराशौचालयनहींबनायागया।क्याकरेंआजभीपूरापरिवारखेतोंपरशौचकरनेजाताहै?गांवकेलोगोंकेमुंहसेसुनाहैकिहमारागांवभीपूरीतरहखुलेमेंशौचमुक्तघोषितहोगयाहै।

शोभारामसागर,नदलाउदई।हमारेगांवमेंसरकारद्वाराग्रामीणोंकेघरपरशौचालयकानिर्माणकरायागयाहै।ग्रामीणोंकीमहिलाएंऔरबच्चेघरमेंबनेशौचालयकाप्रयोगकररहेहैं,लेकिनजोग्रामीणखुलेमेंशौचकरनेकेआदीहैंवेआजभीआदतनखुलेमेंशौचकरनेजातेहैं।

प्रेमशंकर,रौराकला।हमने250शौचालयोंकानिर्माणगांवमेंकरायाहै।अबभीलगभगगांवमेंडेढ़सौलोगोंकेशौचालयबननेरहगएहैं।गांवमेंकुल40प्रतिशतलोगोंकेहीशौचालयबनपाएहैं।गांवकोपूरीतरहओडीएफघोषितकरदियागया।हमनेअधिकारियोंसेकईबारशेषबचेग्रामीणोंकेशौचालयबनानेकीमांगकी,लेकिननईलिस्टजारीनहींहुईऔरनहीशौचालयनिर्माणकेलिएरुपयाआया।गांवमेंजिनलोगोंकेशौचालयकानिर्माणकरायागया।उनमेंआजभीकुछग्रामीणआदतनखुलेमेंशौचकोजातेहैं।हमनेग्रामीणोंसेकईबारखुलेमेंशौचनजानेकेलिएकहा।कुछग्रामीणोंकाकहनाहैकिसुबह-सवेरेखेतोंपरजबतकवहटहलनलें,तबतकउन्हेंलेटरीननहींआतीहै,इसलिएवेखेतोंपरशौचकोजातेहैं।

भूपरामसागर,ग्रामप्रधानखमरिया।मनकरागांवमेंमेंलगेहैंचेतावनीबोर्डरामपुर:चमरौआब्लाककीग्रामपंचायतमनकराअबपूरीतरहखुलेमेंशौचसेमुक्त(ओडीएफ)है।इसगांवमेंनतोकहींखुलेमेंमलकरतेमिलेगाऔरनहीकोईव्यक्तिखुलेमेंशौचकरतापायाजाएगा।ग्रामपंचायतमनकराजिलेकासबसेपहलेओडीएफघोषितहोनेवालागांवहै।ग्रामप्रधानसनाकाशिफविज्ञानस्नातकमहिलाहैं।उनकेपतिकाशिफखांभीप्रधानरहेहैं।वहअबप्रधानसंगठनकेप्रवक्ताहैं।गांवकोखुलेसेशौचमुक्तकरनेलिएसख्तरवैयाअपनायागया।साथहीग्रामीणोंकासहयोगभीरहा,जिसकेसबबआजगांवमेंकोईव्यक्तिखुलेमेंशौचनहींकरताहै।बतातेहैंकिमनकराकोओडीएफकरनेकेलिएसबसेपहलेनिगरानीसमितियांबनाईगईं।घरघरजाकरखुलेमेंशौचकेदुष्परिणामबताएगए।72शौचालयविहीनपरिवारोंकेशौचालयबनवाएगए।जगहजगहचेतावनीबोर्डलगाकरकार्यवाहीकाडरपैदाकरलोगोंकोखुलेमेंशौचसेरोकागया।ग्रामपंचायतमनकरामेंखुलेमेंशौचकरनेपरपांचसौरुपयेजुर्मानावसूलेजाने,वैधानिककार्रवाईकीचेतावनीकेबोर्डआजभीलगेनजरआतेहैं।हालांकि,अबगांवकेलोगहीइसग्रामपंचायतकाओडीएफदर्जाबरकराररखनाचाहतेहैं।ग्रामप्रधानसंगठनकेप्रवक्ताकाशिफखांनेबतायाकिशुरुआतीदिनोंमेंलोगोंकोखुलेमेंशौचसेरोकनेमेंदिक्कतोंकासामनाकरनापड़ाथा,लेकिनधीरे-धीरेलोगोंकोसहीऔरगलतकीसमझआगई।खुलेमेंशौचनकरनेसेवातावरणस्वच्छहुआहैऔरबीमारीभीकमहुईहैं।अबलोगइतनेजागरूकहोगएहैंकिखुलेमेंशौचकरनेकेबारेमेंसोचभीनहींसकते।