नशा मुक्ति केंद्रों पर नहीं किसी का नियंत्रण, युवाओं को नशे से दूर करने की एवज में काली करतूतों को दे रहे अंजाम

विजयजोशी,देहरादून।समाजसेवाकी'ठेकेदार'कुछसंस्थाएंयुवाओंकोनशेसेदूरकरनेकीएवजमेंकालीकरतूतोंकोअंजामदेरहीहैं।जिम्मेदारोंकोइसकीभनकभीनहींलगपाती।नकोईनिगरानीरखनेवालाहै,नकेंद्रोंकीकोईजवाबदेही।हमारेसिस्टमकीयहखामीनशामुक्तिकेंद्रसंचालकोंकेहौसलेबढ़ारहीहै।बैठे-बैठाएमोटीकमाईऔरमनमर्जीकरनेकीछूटकेचलतेशहरमेंनशामुक्तिकेंद्रोंकीबाढ़सीआगईहै।इनकेंद्रोंकीनिगरानीकीनतोकिसीविभागकेपासजिम्मेदारीहैऔरनहीइनकेलिएकोईमानकहैं।ऐसेमेंलगातारसामनेआरहेदुष्कर्मऔरउत्पीड़नकेमामलोंनेसिस्टमपरसवालखड़ेकरदिएहैं।

दरअसल,दूनमेंयुवाओंकीनशाखोरीकीलतकोकुछव्यक्तियोंनेकमाईकाजरियाबनालियाहै।नशाछुड़ानेकेनामपरयुवाओंकेस्वजनमोटीरकमचुकानेकोतैयाररहतेहैंऔरनशामुक्तिकेंद्रमेंउन्हेंसंचालककेभरोसेछोड़देतेहैं।अबबिनापंजीकरणकेचलरहेनिजीनशामुक्तिकेंद्रोंमेंक्याहोताहै,किसीकोनहींपता।इनकेंद्रोंमेंमनोरोगविशेषज्ञतोदूरकाउंसिलिंगकेलिएभीकोईनहींमिलता।जबकि,येकेंद्रएक-एकव्यक्तिसे30से50हजाररुपयेतकवसूलरहेहैं।यहींनहीं,इसकेबादबंदकमरोंमेंयुवक-युवतियोंकेसाथदुष्कर्मऔरउत्पीड़नकीघटनाएंभीआमहोगईहैं।

नशामुक्तिकेंद्रोंपरकौनकरेगाकार्रवाई

नशामुक्तिकेंद्रोंकेलिएमानकनिर्धारणकौनकरताहैऔरइनकीनिगरानीवजांचकाजिम्माकिसकेपासहै,यहपहेलीबनाहुआहै।दूनमेंचलरहेदर्जनोंनशामुक्तिकेंद्रोंमेंसेकोईभीस्वास्थ्यविभागकेसाथपंजीकृतनहींहै।इनकीजानकारीकेलिएजब'दैनिकजागरण'कीटीमनेप्रशासन,पुलिस,समाजकल्याणऔरस्वास्थ्यविभागसेसंपर्ककियातोएकहीजवाबमिलाकिहमारेपासइनकीनिगरानीकाजिम्मानहींहै।

मुख्यचिकित्साअधिकारीडामनोजउप्रेतीकाकहनाहैकिक्लीनिकलएस्टैब्लिशमेंटएक्टकेतहतनशामुक्तिकेंद्रनहींआते।हालांकि,यदिकोईनशामुक्तिकेंद्रदवाऔरइंजेक्शनकाइस्तेमालकरताहै,तोउनकीनिगरानीस्वास्थ्यविभागकरताहै।फिलहालकोरोनामहामारीसेनिपटनेमेंव्यस्तहोनेकेकारणइनकेंद्रोंपरछापेमारीनहींकीजासकी।जल्दहीनशामुक्तिकेंद्रोंपरइसकीजांचकीजाएगी।

जिलाधिकारीडाआरराजेशकुमारनेकहा,नशामुक्तिकेंद्रोंकीगतिविधियोंपरनजररखीजाएगी।इनकेमानकऔरपंजीकरणआदिकीजानकारीजुटाईजारहीहै।केंद्रोंकीनिगरानीकोव्यवस्थाबनाईजाएगी।गलतकार्यवमानकोंकाउल्लंघनकरनेवालेकेंद्रोंपरकड़ीकार्रवाईकीजाएगी।

यहभीपढ़ें- नशामुक्तिकेंद्रदुष्कर्मप्रकरण,डाक्टरनकाउंसलरतोआखिरफिरकौनछुड़वारहाथानशा,हरमाहतीनहजारलेतेथेफीस