नमो देव्यै महादेव्यै: पर्यावरण संरक्षण को समर्पित है अनीता सरावगी का जीवन

महावीरयादव,बादशाहपुर

वैश्विकमहामारीकोविड-19मेंहरवर्गकिसीनकिसीरूपपरेशानीमेंरहा।इसपरेशानीकेदौरमेंभीकईलोगअपनीचिताछोड़दूसरोंकीमददकेलिएडटेरहे।ऐसीहीशख्सियतहैंशहरकीपर्यावरणकेप्रतिसमर्पितअनीतासरावगी।अनीतासरावगीलोगोंकोनकेवलपर्यावरणकेप्रतिजागरूककरनेकाकामकररहीहैंबल्किकोरोनासेबचावकेलिएजरूरतमंदलोगोंकोमास्कवसैनिटाइजरभीवितरितकरतीहैं।इसकेअलावावेलोगोंकोजूटकेबैगदेकरभीपर्यावरणसंरक्षणकीअलखजगारहीहैं।

अनीतासरावगीकापर्यावरणसेगहराजुड़ावहै।वे55गांवोंमेंकरीब25सौपौधेलगाचुकीहैं।वेसड़ककिनारेपौधारोपणकाकामकरतीहैं।सिगलयूजप्लास्टिकपर्यावरणकेलिएसबसेबड़ाखतराहै।सिगलयूजप्लास्टिककेप्रयोगकोरोकनेकेलिएवेस्कूलीछात्रछात्राओंकोजागरूककरनेमेंजुटीरहतीहैं।बच्चोंकोस्टीलकेटिफिनवितरितकरतीहैं,ताकिबच्चेप्लास्टिककेटिफिनप्रयोगनाकरें।

अनीताबतातीहैंकिउनकाउद्देश्यकेवलपौधेलगानाहीनहींबल्किबादमेंउनकीपूरीतरहदेखभालकरनाभीहै।जरूरतमंदबच्चोंकोइससमयवेमास्कबांटनेकेसाथ-साथउनकोस्कूलजानेकेलिएस्कूलबैगऔरकापियांभीउपलब्धकरारहीहैं।ताकिकोईभीवंचितपरिवारमास्कनाहोनेकेकारणबीमारीकाशिकारनाहोजाए।उनकाकहनाहैकियहसमयसभीकेलिएबड़ाचुनौतीभरादौरहै।नवरात्रकेदौरानकंजिकाकोमास्कवितरणऔरकापीवस्कूलबैगदेनेपरविशेषध्यानदियाजारहाहै।लोगोंकोजूटकेबैगदेखकरपर्यावरणसंरक्षणकेलिएजागरूककरनासबसेपहलीप्राथमिकतारहतीहै।जागरूकतासेहीबदलावआतेहैं।