निकासी नालियों को ऊंचा बनाने की मांग

संवादसूत्र,श्रीमुक्तसरसाहिब

गांवकोटलीसंघरमेंनालियोंकेपानीकाकोईप्रंबंधनहोनेकेचलतेलोगकाफीसमयसेपरेशानीझेलरहेहै।लोगोंद्वारापानीकेमसलेकेहललिएसंबंधितविभागतथाजिलेकेअधिकारियोंकोकईबारगुहारलगाचुकेहैलेकिनमसलेकाकोईहलनहींहोरहा।

गांवकेबलवीरसिंहबीरातथाउसकेबेटेहरमनसिंहनेबतायाकिउनकेघरकेसाथगंदेपानीकीनिकासीलिएबनीनालीमेंहरवक्तपानीभरारहताहै।जिसकीकोईनिकासीनहोनेकारणगंदापानीघरकीदीवारोंकेसाथजमारहताहै।छप्पड़मेंपानीओवरफ्लोहोचुकाहैजिसकीआगेकिसीतरफनिकासीनहींहै।बारिशकेदिनोंमेंउनकोओरभीपरेशानीझेलनीपड़तीहै।क्योंकिछप्पड़कापानीओवरफ्लोहोकरलोगोंकेघरोंमेंदाखिलहोजाताहै।जिससेमकानगिरनाकाखतराबनजाताहै।उन्होंनेप्रशासनसोमांगकीहैकिपानीकीनिकासीकाकोईढोसप्रंबंधकियाजाए।उन्होंनेकहाकिदीवारकेपाससेगुजरतीनालियोंकोऊंचाकरकरकेबनायाजाए।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!