निगम की डायरी: संदीप रतन

नोटउगलरहींकबाड़मशीनें

नगरनिगमगुरुग्रामकीकबाड़मशीनेंभीनोटउगलरहीहैं।वर्षोंपुरानीमशीनरीकेलाखोंरुपयेकेबिलबनाकरसरकारीखजानेमेंसेंधलगाईजारहीहै।यहांबातहोरहीहैवार्ड13केकादीपुरबूस्टिगस्टेशनमेंखड़ी10सेज्यादाजेटिगमशीनोंकी।इनकबाड़मशीनोंकीमरम्मतकेनामपर40लाखरुपयेसेज्यादाकेबिलबनादिएगए।जेटिगमशीनोंसेसीवरकीसफाईहोतीहै,लेकिन,निगमवालोंनेकरोड़ोंकेसीवरसफाईकेटेंडरनिजीसफाईएजेंसियोंकोदेरखेहैं।सीवरकितनेसाफहोतेहैं,इसकाअंदाजापुरानेशहरकेसेक्टरोंऔरकालोनियोंकेहालातदेखकरलगायाजासकताहै।ठेकेदारोंऔरनिगमइंजीनियरिगकेअधिकारियोंकीमिलीभगतसेलाखोंरुपयेबर्बादकिएजारहेहैं।पार्षदब्रह्मयादवकाकहनाहैकिजबमशीनेंचलनेलायकहीनहींहैं,तोइनपरलाखोंरुपयेकैसेखर्चकरदिएगए?

क्यासबठीकनहींचलरहा?

साइबरसिटीमेंसीएममनोहरलालकेदौरेकेखूबचर्चेहैं।वोइसलिएकिसीएमसाहबनेनगरनिगमऔरजीएमडीएमेंरातकेसमयछापेमारीकरदी।शनिवाररातकोसाढ़ेनौबजेअचानकसेक्टर39स्थितनिगमकार्यालयऔरउसकेबादजीएमडीएकार्यालयमेंभीनिरीक्षणकिया।छापेमारीकेबादलोगोंकायहसवालहैकिक्यानिगममेंसबठीकनहींचलरहा?इसछापेकेबादखासतौरसेनिगमकीसैनिटेशनविगमेंखलबलीमचीहुईहै।हालांकिरातकेसमयमौजूदनिगमअधिकारीसीएमकोकोईसंतोषजनकजवाबनहींदेपाए,लेकिनसुबहहीस्वीपिगमशीनोंकारिकार्डलेकरदरबारमेंहाजिरहोगए।इसकेबादसेनिगमअधिकारियोंनेमैकेनिकलरोडस्वीपिगमशीनोंकीनिगरानीकेलिएटीमगठितकरदीहै।फेसरिकग्निशनकैमरेलगानेकाआदेशमिलनेकेबादजीएमडीएनेभीइसप्रोजेक्टपरकामकरनाशुरूकरदियाहै।

डोजिगपंपकीडोज

दोसालपहलेपुरानेगुरुग्रामशहरकेबूस्टिगस्टेशनोंपरडोजिगपंपलगानेकाटेंडरनगरनिगमनेजारीकियाथा।पंपलगानेकेलिएनिगमने1.40करोड़रुपयेखर्चकिए।अबबतातेहैंकियेपंपहोताक्याहै।डोजिगपंपकेजरिएबूस्टिगस्टेशनोंसेघरोंमेंआपूर्तिहोनेवालेपानीकाक्लोरीनेशनयानीकीटाणुशोधनकियाजाताहैताकिलोगोंकोपीनेकाशुद्धपानीमिले।इनडोजिगपंपसेनिगमवालोंऔरठेकेदारोंकोतोकरोड़ोंकेभुगतानकीडोजमिलगई,लेकिनलोगोंकोकोईसुविधानहींमिली।निजीएजेंसियोंनेकुछबूस्टिगस्टेशनोंपरडोजिगपंपलगाखानापूर्तिकरली।जितनेपंपलगेथे,अबस्थितियेहैकिवोभीखराबपड़ेहैं।नगरनिगममेंविकासयोजनाओंकेनामपरजनताकापैसालुटायाजारहाहै।अगरमामलेकीतहतकजांचकीजाएतोबड़ाघोटालाउजागरहोसकताहै।

मरम्मतनहीं..बसबिलबनरहे

नगरनिगमद्वाराएककम्यूनिटीसेंटरकेनिर्माणपरदोसेढाईकरोड़रुपयेखर्चकिएजारहेहैं।सिर्फइतनाहीनहींइनकेरखरखावकेनामपरभीवार्डकमेटियोंऔरआरडब्ल्यूएकोहरमहीनेलाखोंरुपयेकाभुगतानहोरहाहै।कम्यूनिटीसेंटरोंकीहालतकोदेखकरसमझमेंआताहैकिकिसतरहनगरनिगममेंसिर्फरखरखावकेबिलहीबनरहेहैं।कुछकम्यूनिटीसेंटरोंकोछोड़करज्यादातरखस्ताहालहोचुकेहैं।कहींपरकम्यूनिटीसेंटरोंकीछतझुकीहै,तोकहींपरशीशेटूटेहुएहैं।इनकेपरिसरोंमेंझाड़ियांऔरघासउगीहुईहै।प्रत्येककम्यूनिटीसेंटरकेरखरखावकेलिएआरडब्ल्यूएऔरवार्डकमेटीकोहरमहीने25हजाररुपयेकाभुगतानहोताहै।बार-बारइंजीनियरिगविगइनकीमरम्मतकेअलगसेलाखोंरुपयेकेएस्टीमेटभीबनातीहै।अगरनिगमायुक्तस्वयंकम्यूनिटीसेंटरोंकादौराकरेंगेतोसच्चाईसामनेआजाएगी।