नए किस्म की रेड लेडी ताइवानी पपीता की हो रही खेती

गया।गयाजिलेकेशेरघाटीप्रखंडअंतर्गतपत्थलकट्टीगांवकेपर्यावरणप्रेमीगणितसेस्नातकोत्तरवगोपालपुरपंचायतकेपूर्वमुखियाश्रीकांतयादवक्षेत्रमेंनईतकनीकसेखेतीकेलिएचर्चितहोरहेहैं।इसवर्षयादवनेकृषिकेक्षेत्रमेंनायाबप्रयोगकरतेहुएरेडलेडीताइवानीपपीता5एकड़मेंलगाएहुएहैं।पपीताकापौधा3से4फीटहोचुकाहै।कुछमाहमेंयानीजून-जुलाईतकपपीताफलदेनाशुरूकरदेगा।वहबतातेहैंकिपपीतेकापौधाकाफीमहंगाहै।यहांसामान्यतौरपरकिसानइसकीखेतीनहींकरतेहैं।क्योंकिलागतकेअनुरूपमूल्यनहींमिलपाता।साथहीशुरुआतीसमयमेंप्रयोगकेतौरपरलगायागयाखेतीअसफलहोनेकाभीभयरहताहै।जिससेलाखोंकानुकसानसहनापड़सकताहै।उन्होंनेकहाकिइसप्रकारकीखेतीकेलिएबिहारसरकारसहायताकररहीहै।बिहारकेपूसाकृषिविश्वविद्यालयसे5000पपीताकापौधाअनुदानितदरपरप्राप्तहुआहै।इसमेंमामूलीखर्चहमेंलगानापड़ाहै।

क्याहैविधिपपीतापौधालगानेकी

किसानयादवबतातेहैंकिसूखेखेतकीसिचाईकरजोताईकरें।फिरउसे2महीनेतकदोसेतीनबारजोताईकरनेकेबादखरपतवारकीअच्छीतरहसेनिकौनीकरले।ताकिखेतस्वस्थहोजाए।जबखेतसेपूरीतरहनमीसमाप्तहोजाएतोउसमें4फीटगड्ढाखोदकरवर्मीकंपोस्टएवंपाउडरमिलाकरमिट्टीकेसाथउसगड्ढेकोभरदे।फिरएकपखवाराबाददोनोंओरसेनिकलीमिट्टीकोडालकरपगारतैयारकरलें।उसकेबादपपीतेकेपौधेकारोपनकरदें।ध्यानरहेकिपौधेकीजड़मेंपानीनहींजमारहसके।फिरसमय-समयपरपौधेकीसिचाईऔरनिकौनीकरतेरहें।इसप्रकारलगभग8से9माहमेंपपीताफलदेनाप्रारंभकरदेगा।व्यापकबाजारउपलब्धकिसानबतातेहैंकिउक्तपपीतेकेलिएबिहारमेंव्यापकबाजारहैं।इसकीमांगहरजगहहोतीहै।पपीतेमेंसभीप्रकारकेविटामिनपाएजानेकेकारणलोगोंद्वाराहरमौसममेंकाफीपसंदकियाजाताहै।इसीलिएक्षेत्रीयभाषामेंइसेबारहमासाफलभीकहतेहैं।क्योंकियहसालोंभरउपलब्धरहताहै।यहगुणकारीकेसाथ-साथलाभकारीभीहै।किसानीक्योंपसंदआयाइसप्रश्नकेजवाबमेंयादवकहतेहैंकिमुखियाकेकार्यकालमेंकईस्थानोंपरकृषिप्रशिक्षणमेंजानेदेखनेऔरप्रशिक्षणप्राप्तकरनेकाअवसरप्राप्तहुआ।जिसकामैंनेसकारात्मकसोचकेतहतउपयोगकियाऔरअपनीपुश्तैनीजमीनपरउसकाउपयोगकरपर्यावरणकेसाथ-साथआयमेंवृद्धिकाजरियाबनाया।उन्होंनेकहाकिहमारेपासपुश्तैनीजमीननहरकिनारेलगभग15एकड़बंजरपड़ाहुआथा।मुखियाकेकार्यकालमेंहीहमनेदोहजारसातआठमेंऔषधीयएवंफूलकीखेतीलगाया।उन्होंनेकहाकिइसीसमयखेतसेकुछकिलोमीटरदूरीपरआसपासमेंसोलरप्लांटऔरएकफैक्ट्रीलगाईजानेलगी।उसीसमयमेरेदिमागमेंयहबातआईकिउक्तफैक्ट्रीएवंसोलरप्लांटलगाएजानेसेस्थानीयस्तरपरपर्यावरणप्रभावितहोगा।²ढ़इच्छाशक्तिसेहमनेपर्यावरणकोसंतुलितरखनेएवंआयमेंवृद्धिकाजरियाबनानेकेलिए5एकड़मेंऔषधियऔरफूलकीखेतीशुरूकिया।औषधीयपौधेमेंलेमनग्रास,तुलसी,मेंथाकेअलावाकईप्रकारकेफूललगाए।जिससेकाफीलाभप्राप्तहुआ।परंतुस्थानीयबाजारनहींहोनेकेकारणउपजकोबेचनाकठिनाईमहसूसहोनेलगा।फिरवर्ष2010मेंइरादाबदलतेहुएफलदारपौधेलगानेशुरूकिए।इसकेतहतअमरूद,आंवला,आम,केलाकापौधालगाया।जोफलदेरहेहै।इससेआमदनीभीमिलनेलगीहै।मेडकेकिनारेकिनारेकीमतीलकड़ीकेपौधेलगाएगएहैं।जोभविष्यकेलिएलाभकारीहोंगे।आगामीयोजनाउन्होंनेबतायाकिअभी5एकड़मेंकेलालगानेकीयोजनापरकामचलरहाहै।खेततैयारहोचुकाहै।पौधाप्राप्तहोतेहीकेलेकारोपणकियाजाएगा।इसकेलिएहाजीपुरएवंभागलपुरकेनर्सरीसेअच्छेकिस्मकेकेलेकेपौधेमंगानेकेलिएसंपर्ककरचुकेहैं।आगामीएकपखवारामेंकेलेकापौधाप्राप्तहोजाएगा।