National Science Day 2020: मिलिए देश की उन 5 महिला वैज्ञानिकों से, जिन्होंने दुनिया में लहराया परचम

NationalScienceDay2020:आजविज्ञानदिवसहै।आजकेदिनआपसेकिसीवैज्ञानिककेबारेमेंपूछाजाए,तोआपकीजुबानपरसबसेपहलेडॉ.एपीजेअब्दुलकलामयाफिरकिसीपुरुषवैज्ञानिककानामआएगा।आजविज्ञानकीदुनियामेंभारतीयमहिलाओंकीसफलताकीकहानियांभीकमनहींहैं।भारतकाचंद्रयानमिशनहोयाफिरमंगलमिशनकीसफलता,इनमेंमहिलावैज्ञानिकोंकीलगनऔरमेहनतआजकिसीसेछिपीनहींहै।

आजराष्ट्रीयविज्ञानदिवसकेदिनहमआपकोकुछऐसीमहिलावैज्ञानिकोंकेबारेमेंबतानेजारहेहैं,जिन्होंनेविज्ञानकेक्षेत्रमेंअपनापरचमलहरायाहै।येमहानवैज्ञानिकमहिलाएंजोशसेभरीहुईसशक्तऔरआत्मनिर्भरहैं।आइएजानतेहैंइसरोकीखासमहिलावैज्ञानिकोंकेबारेमें-

1.रितुकरढाल:रितुकरढालकोभारतकारॉकेटवुमनकहाजाताहै।वहइसरोकीउनवैज्ञानिकोंमेंसेएकहैं,जोकईसमस्याओंकोअपनेविचार-विमर्शसेसुलझानेमेंमाहिरहैं।वहमंगलयानमिशनकीडिप्टीऑपरेशन्सडायरेक्टररहीहैं।व​​हएकएयरोस्पेसइंजीनियरहैं।वहलखनऊमेंपली-बढ़ीहैं।रितुदोबच्चोंकीमांहोनेकेबावजूदइसरोमेंहीअपनावीकेंडबितातीहैं।एकइंटरव्यूमेंउन्होंनेबतायाथाकिबचपनसेहीचंद्रमाउनकेलिएएककौतुहलकाविषयलगताहै।उनकेदिमागमेंइससेजुड़ेकईसवालथे,लेकिनयहीसवालनेउनकोकाफीआगेबढ़ाया।

2मौमितादत्ता:बचपनमेंहीमौमितादत्तानेचंद्रयानमिशनकेबारेमेंपढ़ाथा।उन्होंनेकोलकाताविश्वविद्यालयसेअप्लायडफिजिक्ससेM.Techकीपढ़ाईकी।2006मेंइन्होंनेअहमदाबादमेंस्पेसएप्लिकेशनसेंटरज्वॉइनकिया।इसदौरानयेचंद्रयान1औरमंगलयानजैसेमहत्वपूर्णपरियोजनाओंकाहिस्सारहीं।मंगलयानमेंयेबतौरप्रोजेक्टमैनेजरकामकरचुकीहैं।फिलहालवे"मेकइनइंडिया"काहिस्साहैं।

3.मीनलसंपत:मीनलसंपतमंगलयानमिशनकेअहमप्रोजेक्टसेजुड़ीरहीहैं।इन्होंनेमंगलयानकेपेलोड्सकेविकासमेंबहुतहीमहत्वपूर्णभूमिकानिभाईथी।इन्हेंसेटेलाइटटेक्नॉलजीमें12वर्षसेअधिककाअनुभवहै।फिलहालवेचंद्रयान2मिशनजैसेकईमहत्वपूर्णमिशनकीप्रोजेक्टमैनेजरहैं।टेलीमेडिसिनप्रोग्राममेंशानदारयोगदानकेलिएइसरोनेउनकोयंगसाइंटिस्टमेरिटअवार्डसेसम्मानितकियाथा।2013मेंउनकोइसरोटीमएक्सिलेंसअवार्डभीमिलचुकाहै।वेइलेक्ट्रॉनिक्सएंडकम्युनिकेशनइंजीनियरिंगमेंगोल्डमेडलिस्टहैं।

4.नंदिनीहरिनाथ:इसरोकेरॉकेटवैज्ञानिकोंमेंएकनामहैनंदिनीहरिनाथका,जिन्होंनेभारतकेमंगलयानमिशनमेंअपनीमहत्वपूर्णभूमिकानिभाईथी।वेमंगलयानमिशनमेंमिशनडिजाइनडिप्टीआॅपरेशन्सडायरेक्टरथीं।फिलहालवेनासाऔरइसरोकेसंयुक्तमिशननिसारकीसिस्टमप्रमुखहैं।नंदिनीहरिनाथनेबतायाथाकिस्टारट्रैकसीरिजदेखनेकेबादउनकेअंदरविज्ञानपढ़नेकीरुचिबढ़ी।दोहजाररुपएकेनोटपरमंगलयानमिशनकाचित्रदेखकरनंदिनीकाफीगौरवान्वितमहसूसकरतीहैं।

5.अनुराधाटी.के:अनुराधाटी.केकोइसरोमेंभारतकीपहलीमहिलासैटेलाइटप्रोजेक्टडायरेक्टरहोनेकागौरवप्राप्तहै।वहइसरोकेवरिष्ठमहिलावैज्ञानिकोंमेंसेएकहैं।उन्होंने1982मेंइसरोज्वॉइनकियाथा।उन्होंनेसैटेलाइटGSAT-12औरGSAT-10कीलॉचिंगमेंकामकियाहै।9सालकीउम्रमेहीइन्होंनेठानलियाथाकिवेएकवैज्ञानिकबनेंगी।इन्होंनेएकइंटरव्यूमेंबतायाथाकिउनको9सालकीउम्रमेंपताचलाकिचंद्रमापरजानेवालेप्रथमवैज्ञानिकनीलआर्मस्ट्रांगथे।इसकेबादवेइनसेकाफीप्रभावितहुईथीं।