ना एजेंसी आई और ना टेंडर लगा, शहर में स्ट्रीट लाइट व्यवस्था खराब

जागरणसंवाददाता,कैथल:शहरकेडिवाइडरोंऔरवार्डोंमेंखराबस्ट्रीटलाइटोंकीसमस्याकरीबचारसालोंसेचलीआरहीहै।अपनेकार्यकालमेंपार्षदोंनेपूराप्रयासकियाकिशहरमेंनईएलइडीलाइटेंलगाईजाएं।दोबारनईलाइटोंकोलेकरहाउसमेंप्रस्तावभीपासकियागया,लेकिननईलाइटोंकीमांगकरते-करतेपार्षदोंकेहीपांचसालनिकलगए।नगरपरिषदकीतरफसेनईलाइटेंलगानातोदूरखराबलाइटोंकीरिपेयरभीठीकसेनहींकीजारहीहै।निदेशालयकीतरफसेराजस्थानकीएजेंसीकोनईस्ट्रीटलाइटेंलगानेकेलिएठेकादियाहुआहै,लेकिनअभीतकएजेंसीनेशहरमेंसर्वेभीशुरूनहींकियाहै।एजेंसीपहलेसर्वेकरेगीऔरउसकेबादनईलाइटेंलगाएगी।कुछदिनपहलेनपकीतरफसेलाइटोंकीरिपेयरकेलिएदसलाखरुपयेमंजूरकिएगएथे।अभीतकभीनपनेरिपेयरकाटेंडरनहींलगायाहै।डिवाइडरोंऔरवार्डोंमेंआधेसेज्यादालाइटेंखराबहैं।नपअधिकारीराजस्थानभीएजेंसीकाहवालादेकरकामसेबचरहेहैं।शहरमें31वार्डहैंऔरहरवार्डमें40से50लाइटेंखराबपड़ीहैं।डिवाइडरोंपरकरीब2200लाइटेंलगीहुईहैं,जिनमेंसेकरीबएकहजारलाइटेंबंदपड़ीहैं।इनडिवाइडरोंपरहैसमस्या

-ढांडरोडपर260लाइटेंलगीहुईहैं,जिनमेंसेकरीब75खराबपड़ीहैं।

-अंबालारोडपर400लाइटेंलगीहुईहैं,जिनमेंसेकरीब100लाइटेंखराबपड़ीहैं।

-चीकारोडविश्वकर्माचौकसेपरशुरामचौकतक200लाइटेंलगीहैं,सभीलाइटेंबंदहैं।

-जींदरोडपर250लाइटेंलगीहुईहैं,जिनमेंसे150लाइटेंखराबहैं।

-परशुरामचौकसेचीकारोडड्रेनतक90लाइटेंलगीहैं,जिनमेंसे40बंदहैं।

-करनालरोडपर200लाइटेंलगीहुईहैं,जिनमेंसे20लाइटेंखराबपड़ीहैं।

-पाडलारोडपर20लाइटेंलगीहैं,सभीलाइटेंबंदपड़ीहैं।

-मानसरोडपर40लाइटेंलगीहैं,सभीबंदहैं।

शहरमेंलगीहाइमास्टलाइटेंभीखराब

नगरपरिषदकीतरफसेशहरमेंविभिन्नस्थानोंपरकरीब50हाइमास्टलाइटेंलगाईहुईहैं।एकहाइमास्टमेंछहलाइटेंलगतीहैं।इनमेंभीदोसेतीनलाइटेंखराबहैं।शहरकेलोगअगरनपकार्यालयमेंशिकायतकरतेहैंतोनईलाइटेंनहींलगाईजातीऔरनाहीलाइटोंकीतारबदलीजातीहै।अगरलाइटरिपेयरहोगईतोठीकनहींतोवहलाइटखराबहीछोड़दीजातीहै।लाइटेंठीककरानेकेलिएजल्दलगेगाटेंडर

नगरपरिषदकेएक्सईएनहिमांशुलाटकानेबतायाकिडिवाइडरोंपरखराबलाइटोंकोठीककरनेकेलिएजल्दहीदसलाखरुपयेकाटेंडरलगायाजाएगा।इसकेअलावाजहांसेशिकायतमिलरहीहैनपटीमखराबलाइटोंकोठीकभीकररहीहै।नईलाइटेंलगानेवालीराजस्थानकीएजेंसीसेभीसंपर्ककियाजाएगा।