मवेशियों को पानी में गुड़ घोल कर पिलाएं पशुपालक

श्रावस्ती:तेजधूपकेचलतेबढ़रहेतापमानकापशुओंकेस्वास्थ्यपरविपरीतप्रभावपड़सकताहै।मवेशियोंकोखुलेमेंबांधनेसेउन्हेंलूलगनेकीपूरीसंभावनाहै।ऐसेमेंपशुओंकोबीमारहोनेसेबचानेकेलिएपशुपालकोंकोसावधानीबरतनेकीजरूरतहै।

उपमुख्यपशुचिकित्साधिकारीडॉ.अनिलकुमारशर्मानेपशुपालकोंकोसचेतकरतेहुएबतायाहैकितेजगर्महवाएंपशुओंकेस्वास्थ्यकोसीधेप्रभावितकरतीहैं।इसमौसममेंमवेशियोंकोलूलगनेकीसंभावनाहै।ऐसेमेंपशुपालकअपनेमवेशियोंकोऊपरसेढकेहुएछप्परअथवाटीनशेडवालेस्थानोंमेंरखें।रोशनदान,दरवाजेवखिड़कियोंकोटाटबोरेसेढकदें।जिससेसीधेहवाकाझोंकापशुओंतकनपहुंचसके।टाटबोरेपरपानीकाछिड़कावकरतेरहें।पशुओंकोछायामेंबांधेतथापर्याप्तमात्रामेंपानीपिलाएं।लूकाअसरमवेशियोंकेस्वास्थ्यपरनपड़े,इसकेलिएगाय,भैंसको20लीटरपानीमेंएककिलोगुड़घोलकरपिलादें।संतुलितआहारखली,ताना,चोकरवप्रतिदिन50ग्रामनमकपशुओंकोअवश्यखिलाएं।स्वच्छताजाहैंडपंपकापानीभरपूरमात्रामेंपशुओंकोपिलाएं।यदिकोईमवेशीलूसेप्रभावितहोताहैतोउसमेंबुखारकेलक्षणहोतेहैं।ऐसेमेंतत्कालनिकटवर्तीचिकित्सालयमेंदिखाएं।पशुओंकोखूबनहलाएं।घरकेबाहरछायादारस्थानोंपरकटोरेमेंपानीभरकररखदें,जिससेकिअन्यपक्षीभीपानीपीसकें।