मुरादाबद के किसान नौ तरीके का बना रहे जैविक गुड़, दिल्ली-हरियाणा तक खूब किया जा रहा पसंद, जानें- क्या है भाव

मुरादाबाद,जेएनएन।OrganicJaggerymadeinMoradabad:खेतीमेंआमदनीबढ़ानेकेलिएयुवाकिसानजैविकफसलेंबोनेकीतरफतेजीसेकदमबढ़ारहेहैं।इसकालाभभीकिसानोंकोमिलनेलगाहै।मुरादाबादमंडलकेकईयुवाकिसानोंकेजैविकगुड़कीमिठासकईप्रदेशोंमेंफैलरहीहै।छजलैटब्लाककेबैरमपुरगांवकेयुवाकिसानपुनीतधारीवालगुड़तैयारकरकेकईप्रदेशोंमेंबेचकरलाखोंकमारहेहैं।उनसेप्रेरणालेकरअन्यकिसानोंनेभीपरंपरागतखेतीछोड़करजैविकखेतीकरनाशुरूकरदीहै।

मुरादाबादजिलेमेंकरीब500किसानजैविकखेतीसेजुड़ेहैं।यहांकोरोनासंक्रमणसेपहलेमंडीसमितिमेंजैविकउत्पादोंकीबिक्रीकेलिएबाजारभीलगताथा।लेकिन,इनदिनोंमेंबंदपड़ाहै।किसानोंनेजैविकखेतीकरकेगुड़तैयारकियाहै।यहगुड़दिल्लीऔरहरियाणाकीमंडियोंमेंभेजाजारहाहै।इसकेअलावाउत्तराखंडमेंभीमुरादाबादमंडलकेजैविकगुड़कीमिठासपहुंचरहीहै।युवाकिसानपुनीतधारीवालनेइससालदोएकड़जमीनमेंजैविकतरीकेसेगन्नेकीफसलउगाईहै।गन्नाचीनीमिलोंकोबेचनेकेबजायवहजैविकगुड़तैयारकराकरदिल्लीऔरगुरुग्राममेंबेचरहेहैं।इससेउन्हेंमिलपरगन्नाबेचनेसेदोगुनालाभमिलरहाहै।

अमरोहाकेवीबड़ाखुर्दगांवकेयुवाकिसानविमलचौहाननेभीआर्गेनिकतरीकेसेगन्नेकीखेतीकरकेनौतरहकागुड़बाजारमेंबेचरहेहैं।विमलचौहानकाकहनाहैकिसबसेअधिकड्राईफ्रूटकेगु़ड़कीमांगहै।तिगरीमेलेमेंस्टाललगायाथा।वहांकाफीमात्रामेंलोगोंनेजैविकगुड़खरीदा।हमजैविकगुड़दिल्ली,हरियाणाऔरउत्तराखंडकेबाजारमेंबेचरहेहैं।इससेहमेंचीनीमिलोंपरमिलनेवालीगन्नेकीकीमतसेतीनगुनाअधिकतकदाममिलजातेहैं।शुद्धजैविकगुड़जहरमुक्तगुड़है।

इसमेंकेमिकलकीमात्राबिल्कुलनहींहै।देशीगुड़केखानेसेकिसीकोकोईनुकसाननहींहोगा।यहशरीरकोताकतदेताहै।मुरादाबादकेउपकृषिनिदेशकसीएलयादवकाकहनाहैकिजैविकखेतीकरनेवालेकिसानोंकीसरकारभीमददकररहीहै।इसीलिएकिसानोंकीसंख्यालगातारबढ़रहीहै।यहसबसेअच्छीबातहैकियुवाकिसानजैविकखेतीकीतरफबढ़रहेहैं।इससेखेतीकेक्षेत्रमेंनईक्रांतिआएगी।

गु़ड़केप्रकारकीमत(प्रतिकिलो)

ड्राईफ्रूटगुड़300

सफेदइलायचीगुड़170

हल्दीसौंठगुड़150

चनामूंगफलीसोंठगुड़150

सौंफअजवाइनगुड़140