मशरूम उगाकर 15000 महीना कमा रहे नेत्र सिंह

बीकॉमकरनेकेबादजहांआजकायुवाबेहतरनौकरीकीतलाशकरताहै,वहींउरलापंचायतकेनेत्रसिंहनेकृषिवबागवानीअपनाकरअपनीआर्थिकीमजबूतकीहै।नेत्रसिंहअकेलेमशरूमकीफसलसेहीहरमाह15000रुपयेकमारहेहैं।यहीनहींपूरेक्षेत्रमेंमशरूमवालेकेनामसेमशहूरहै।नेत्रसिंहआजएकबेहतरसब्जीउत्पादकहैं।बीकॉमकरनेबादनेत्रसिंहनेखेतीबाड़ीकेकार्यमेंअधिकरुचिली।उन्होंनेउद्यानविभागपालमपुरसेखुंबकीखेतीकाप्रशिक्षणलियाऔरमशरूमउत्पादनकेलिएघरकेसमीपहीएकविशेषशैडबनायाहै।जहांउम्दाकिस्मकीमशरूमतैयारकिजातीहै।नेत्रसिंहपहलेपद्धरसेजोगेंद्रनगरतकमशरूमकीसप्लाईकरताथा,लेकिनअबस्थानीयक्षेत्रमेंहीडिमांडपूरीकरनामुश्किलहोरहाहै।अकेलेमशरूमकीखेतीसेहीवह15000रुपयेप्रतिमाहकमातेहैं।नेत्रसिंहनेमशरूमकेसाथ-साथनकदीफसलोंधनिया,लहसुन,प्याज,टमाटरआदिकीभीखेतीकरतेहैं।नेत्र¨सहकाकहनाहैकिअपनीजमीनकामृदापरीक्षणकरवानेबादखेतीबाड़ीकोप्रोत्साहनदिया।विभागीयप्रशिक्षणकार्यशालामेंभीभागलेकरइसकीबारीकियोंकोसमझा।शुरूआतीदौरमेंहालांकिमुश्किलोंकासामनाभीकरनापड़ा।मशरूमबेचनेकेलिएपहलेसाइकलमेंबाजारजाताथा।आजस्कूटररखकरदिनचर्याकेसाथसाथमार्केटजायाकरताहै।नेत्र¨सहनेअपनेखेतोंमेंतमामप्रजातिकेफलदारपौधेलगाएहैं।अनारऔरआमकेपौधेफलभीदेनेलगेहैं।साथहीइनपौधोंकीनर्सरीतैयारकीजारहीहै।

सिंचाईव्यवस्थानहोनेसेहोतीहैपरेशानी

नेत्र¨सहकाकहनाहैकिक्षेत्रकीजलवायुऔरमृदासब्जीउत्पादनकेअनुकूलहै।यहां¨सचाईसुविधानहोनेकेकारणअधिकांशकिसानदिलचस्पीनहींलेरहेहैं।उन्होंनेभीस्वयंएक¨सचाईटैंकबनायाहैलेकिनगर्मियोंमेंटैंकभीसूखजाताहै।विभागीयअधिकारीऔपचारिकताओंकेफेरमेंउलझाकररखदेतेहैं।एकबारफील्डकादौराकरदूसरीबारकमहीअधिकारीउसजगहपहुंचतेहैं।

बागवानोंकोविभागकीओरसेशुरूकीगईसभीयोजनाओंसेलाभान्वितकियाजारहाहै।इसकेलिएजागरूकताशिविरमेंलगाएजारहेहैं।

अमरप्रकाशकपूर,उपनिदेशक,बागवानी