Mothers Day Special: कोरोना से जंग में मुस्तैद हैं मां, ड्यूटी का फर्ज निभा उठा रहीं जिम्मेदारी

कानपुर,[चंद्रप्रकाशगुप्ता]।कोरोनामहामारीसेजंगमेंंमहिलापुलिसकर्मीभीपूरीमुस्तैदीसेयोद्धाबनकरलड़रहीहैं।वहलोगोंकोसंक्रमणसेबचानेकेलिएदिनरातपूरीशिद्दतसेअपनीड्यूटीकररहीहैं।खासबातयेहैकिइसमेंसेतमाममहिलापुलिसकर्मीमांभीहैं,जोअकेलेहीअपनेब'चोंकीपरवरिशमेंजुटीहैं।कोरोनासंक्रमणसेखुदकोबचाकरघरपहुंचनाऔरफिरबच्चेकोसंक्रमणसेबचानाभीउनकेलिएबड़ीचुनौतीहै,लेकिनवहपरिवारऔरफर्जकेबीचतालमेलबनाकरचलरहीहैं।

बेटीकेलिएवक्तनिकालनामुश्किल

हरबंशमोहालथानेमेंतैनातदारोगाअंजलितिवारीबतातीहैंकिपतिआनंदचित्रकूटकेकर्वीथानेमेंउपनिरीक्षकहैं।परिवारमेंदोसालकीबेटीआनंदिताहै,जिसकीपरवरिशकाजिम्मावहअकेलेउठातीहैं।हूलागंजचौकीप्रभारीहोनेकेकारणअंजलिबेटीकेलिएज्यादावक्तनहींनिकालपातीहैं।कभीभीघटनाकीसूचनाआतीहैतोउन्हेंजानापड़ताहै।जबसेकोरोनासंक्रमणकाखतरनाकदौरशुरूहुआ,बेटीकीचिंताबढऩेलगीतोउन्होंनेमैनपुरीकेबेवरनिवासीअपनीछोटीबहनकोबुलाया।फिरभीखानाबनानेऔरबेटीकोखिलानेकेबादहीवहघरसेनिकलतीहैं।खुदकोसंक्रमणसेबचाकरवहजैसे-तैसेपरिवारसंभालरहीहैं।

कोरोनामहामारीमेंज्यादाफिक्र

हरबंशमोहालथानेमेंहीतैनातसिपाहीरोलीयादवभीअपनेतीनसालकेबेटेतनिष्ककीपरवरिशअकेलेकरतीहैं।रोलीबतातीहैंकिपतिविकासफौजमेंहैंऔरइनदिनोंहिमाचलप्रदेशमेंतैनातहैं।इटावाकेभरथनामेंमायकाऔरससुरालउरईमेंहै।कोरोनाकेकारणकिसीकाआनानहींहोपाता,लेकिनरोलीकासाथउनकीसहकर्मीरानीगुप्तादेतीहैं।अलगअलगड्यूटीलगनेसेदोनोंमिलकरतनिष्क कोसंभालतीहैं।रोलीनेकहाकिकोरोनामहामारीमेंतनिष्क कीज्यादाफिक्रहोतीहै।ड्यूटीसेआनेकेबादपहलेखुदकोसैनिटाइजकरतीहैं,तभीतनिष्क केपासजातीहैं।

पतिकीमौतकेबादबच्चोंकीजिम्मेदारी

रेलबाजारथानेमेंतैनातदारोगासरितायादवकेपतियोगेशकाआठवर्षपूर्वसड़कहादसेमेंनिधनहोगयाथा।परिवारमेंसास,ससुरऔरदोबेटे10वर्षीयहर्षवसातवर्षीयविधानहैं।पूरीजिम्मेदारीसरिताकेकंधोंपरहै।सरिताबतातीहैंकिछोटेब'चोंकीपरवरिशऔरनौकरीमेंसामंजस्यबैठानामुश्किलहोताहै,फिरभीपूरीकोशिशकरतीहूं।पिछलेदिनोंब'चोंकोबुखारआगयाथा।पहलेडॉक्टरकीसलाहसेदवाएंदेतीरही।सुधारनहोनेपरउन्होंनेछुट्टीलीऔरब'चोंकीतीमारदारीकरउन्हेंस्वस्थकिया।शनिवारकोसैफईनिवासीउनकीमांकीभीतबीयतखराबहोगई।सरितानेतुरंतउन्हेंबुलाकरकृष्णाहॉस्पिटलमेंभर्तीकराया।

बर्राथानेमेंतैनातमहिलाकांस्टेबलप्रियंकासिंहकेपरिवारमेंपतिराजेंद्रङ्क्षसह,दोबेटे11वर्षीययशऔर10वर्षीयअंशहै।दोनोंब'चेएकहीस्कूलमेंपढ़तेहैं।प्रियंकानेबतायाकिदिनकीड्यूटीमेंदिक्कतनहींआती,क्योंकिड्यूटीजानेसेपहलेहीवहब'चोंऔरपतिकेलिएनाश्तावखानातैयारकरदेतींहैं,लेकिनरातकीड्यूटीलगनेपरकाफीपरेशानीहोतीहै।पहलेतोकाफीसमयतकमेसकाखानाखातेरहेऔरअबपतिहेल्पकरादेतेहैं।नाइटड्यूटीहोतीहैतोपतिहीखानाबनातेहैं।कोविडकालमेंवहपूरीसतर्कताबरतरहीहैं।ड्यूटीसेआनेकेबादकपड़ेधोनेऔरनहानेकेबादहीब'चोंकेपासजातीहैं।