Modi Cabinet Reshuffle: सिधिंया से लेकर पशुपति पारस तक... मोदी मंत्रिपरिषद में 27 नए मंत्री हो सकते हैं शामिल

नईदिल्लीजम्मू-कश्मीरपरसर्वदलीयबैठकसंपन्नहोनेकेसाथमोदीमंत्रिपरिषदमेंफेरबदलऔरविस्तारकीचर्चाओंनेएकबारफिरगतिपकड़लीहै।ज्योतिरादित्यसिंधिया,सुशीलमोदी,सर्बानंदसोनोवाल,नारायणराणेऔरभूपेंद्रयादवसहित27संभावितनेताकेंद्रीयमंत्रिपरिषदकेबड़ेपैमानेपरफेरबदलऔरविस्तारकाहिस्साहोसकतेहैं।नरेंद्रमोदीसरकारमेंजिननएमंत्रियोंकेशपथलेनेकीसंभावनाहै,उनमेंमध्यप्रदेशकेपूर्वकांग्रेसदिग्गजसिंधियाशामिलहैं,जोअबभाजपामेंहैं।बिहारकेपूर्वउपमुख्यमंत्रीसुशीलमोदी,भाजपाकेवरिष्ठसंगठनपार्टीमहासचिव,राजस्थानसेभूपेंद्रयादवऔरमध्यप्रदेशसेकैलाशविजयवर्गीय,जोपश्चिमबंगालमेंभाजपाकेअभियानकेप्रभारीथे।भाजपाप्रवक्ताऔरअल्पसंख्यकचेहरासैयदजफरइस्लामभीकेंद्रसरकारमेंभूमिकानिभासकतेहैं।मास्टरलिस्टमेंअसमकेपूर्वसीएमसर्बानंदसोनोवालऔरमहाराष्ट्रकेपूर्वसीएमनारायणराणेकेअलावा,महाराष्ट्रबीडकेसांसदप्रीतममुंडेऔरगोपीनाथमुंडेकीबेटीफेरबदलउम्मीदवारोंकीसूचीमेंहैं।उत्तरप्रदेशसेबीजेपीयूपीप्रमुखस्वतंत्रदेवसिंह,महाराजगंजसेसंसादपंकजचौधरी,वरुणगांधीऔरगठबंधनसहयोगीअनुप्रियापटेलसंभावितोंमेंशामिलहैं।राज्यसभासांसदअनिलजैन,ओडिशासेसांसदअश्विनीवैष्णवऔरबैजयंतपांडा,बंगालकेपूर्वरेलमंत्रीदिनेशत्रिवेदीभीसूचीमेंहैं।जैनअखिलभारतीयटेनिससंघकेअध्यक्षभीहैं।राजस्थानसेमोदीसरकारमेंपूर्वकेंद्रीयमंत्रीपी.पी.चौधरी,चूरूसेप्रदेशकेसबसेयुवासांसदराहुलकस्वांऔरसीकरकेसांसदसुमेधानंदसरस्वतीभीइनसंभावितोंमेंशामिलहैं।दिल्लीसेएकमात्रचेहरानईदिल्लीकीसांसदमीनाक्षीलेखीहोसकतीहैं।बिहारमेंमहत्वपूर्णमंथनकेबीचचिरागपासवानकेखिलाफबगावतकरनेवालेपशुपतिपारसकोलोजपासेकेंद्रीयसीटमिलनेकीसंभावनाहै।उसीतरहसेजेडीयूकेनामांकनआर.सी.पी.सिंहऔरसंतोषकुमारभीइससूचीमेंहैं।कर्नाटककाप्रतिनिधित्वराज्यसभासांसदराजीवचंद्रशेखरकरसकतेहैं।गुजरातभाजपाअध्यक्षसी.आर.पाटिल,अहमदाबादपश्चिमसांसदकिरीटसोलंकीकेसाथसरकारकीओरबढ़रहेहैं।हरियाणासेसिरसाकीसांसदसुनीतादुग्गल,एकपूर्वआयकरअधिकारीभीसंभावितोंमेंशामिलहैं।अपनेसंसदभाषणसेप्रभावितकरनेवालेलद्दाखकेसांसदजामयांगत्सेरिंगनामग्यालपरभीविचारकियाजारहाहै।रामविलासपासवानऔरसुरेशअंगड़ीजैसेनेताओंकेअसामयिकनिधनऔरअकालीदलऔरशिवसेनाकेबाहरहोनेकेकारणकुछरिक्तियोंकेकारणफेरबदलकीआवश्यकताहोरहीहै।यूपीमेंआगामीचुनावफेरबदलकाएककारकहैऔरएकमजबूतसंगठनात्मकचेहरेभूपेंद्रयादवकेप्रवेशकेसाथसरकारमेंकुछअतिरिक्तचेहरेकोभीजोड़नेकीजरूरतहै।2019मेंपीएममोदीकेसत्तामेंआनेकेबादसेयहइसतरहकापहलाफेरबदलसहविस्तारहोगा।