मंत्री अमरजीत बोले-केंद्रीय मंत्री से मुलाकात का समय मांगा, वह नहीं मिला, 4 हजार करोड़ रुपए भी रुका

छत्तीसगढ़मेंखरीफकेधानकीसरकारीखरीदीएकदिसंबरसेशुरूहोरहीहै।इसबीचकेंद्रसरकारकीकुछशर्तोंनेसरकारकीमुसीबतबढ़ादीहै।खाद्यमंत्रीअमरजीतभगतनेकेंद्रीयमंत्रीपियूषगोयलसेमुलाकातकासमयमांगाहै।वहअबतकनहींमिलाहै।इसबीचभगतनेकहाहै,भारत-पाकिस्तानमेंपटतीनहींहै।इसकेबादभीदोनोंकेबीचबातचीतहोतीरहतीहै।उनकोभीउम्मीदहैकिबातचीतसेहीछत्तीसगढ़कीसमस्याकाभीसमाधाननिकलेगा।

खाद्यएवंसंस्कृतिमंत्रीअमरजीतभगतनेमंगलवारकोअपनेनिवासकार्यालयमेंपत्रकारोंसेबातकी।उन्होंनेआरोपलगाया,केंद्रसरकारकीनीतियोंसेछत्तीसगढ़कोनुकसानहोसकताहै।उन्होंनेकहा,केंद्रसरकारनेछत्तीसगढ़़से61लाख65हजारमीट्रिकटनचावलकोकेंद्रीयपूलमेंलेनेकीसहमतिदीहै।इससालछत्तीसगढ़मेंएकलाख5हजारमीट्रिकटनधानखरीदेजानेकीसंभावनाहै।ऐसेमेंइससे71लाखमीट्रिकटनचावलबनजाएगा।केंद्रसरकारकहरहीहै,वहइसबारकेवलअरवाचावललेगी।यहहमारीमुश्किलबढ़ारहाहै।प्रदेशमें461राइसमिलेउसनाचावलबनातीहैं।अगरकेवलअरवाचावलकीशर्तबनीरहीतोयेराइसमिलेबंदहोजाएंगी।

60हजारगठानबारदानाहीमिला

भगतनेकहादूसराबड़ामुद्दाबारदानेकीआपूर्तिकाहै।हमें5लाख86हजारगठानबारदानोंकीजरूरतहै।इसकेलिएकेंद्रीयजूटआयुक्तकोप्रस्तावसहितएडवांसभुगतानभीकरदियागयाहै,लेकिनअभीतककेवल60हजारगठानबारदानामिलपायाहै।इनमुद्दोंपरबातचीतकेलिए10-11नवंबरकोमुलाकातकासमयमांगागयाथा।

केंद्रीयखाद्यएवंउपभोक्तामामलोंकेमंत्रीपियूषगोयलकीओरसेअभीसमयनहींदियागयाहै।यहपूछेजानेपरकिक्याकेंद्रसरकारसेविरोधऔरटकरावइसकीवजहहै,अमरजीतभगतनेकहाकिभारतऔरपाकिस्तानकेबीचपटतीनहीहै,लेकिनवार्ताहोतीरहतीहै।हमेंभीवार्तासेहीउम्मीदहै।उन्होंनेकहा,अगरबातचीतहोगीतोछत्तीसगढ़केहितोंकासमाधानजरूरनिकलेगा।

केंद्रनेरोकरखेहैं4000करोड़रुपए

मंत्रीअमरजीतभगतनेकहा,केंद्रसरकारनेछत्तीसगढ़काकरीब4हजारकरोड़रुपएरोकरखाहै।यहवहराशिहैजोकेंद्रीयपूलमेंचावलजमाकरनेकेबदलेकेंद्रसरकारसेमिलनीथी।राज्यसरकारसमितियोंकोदीजानेवालीकमीशनकीराशिमेंवृद्धि,पिछलेसालकीखरीदीसेसंबंधितकस्टममिलिंगचावलजमाकरनेकीसमय-सीमामेंवृद्धिकीभीमांगरखनेवालीहै।

सरकारकाउसनाचावलपरजोरक्यों

छत्तीसगढ़केस्थानीयखान-पानमेंउसनाचावलशामिलनहींहै।केंद्रीयमांगकोपूराकरनेकेलिएहीप्रदेशमें416राइसमिलेउसनाचावलबनारहीहैं।इनकीक्षमता5.93लाखटनहै।प्रदेशमेंखरीदेगएकुछपतलेएवंमोटेकिस्मकेधानकीकेन्द्रसरकारद्वारानिर्धारितस्पेशिफिकेशनअनुसारअरवामिलिंगनहींहोपातीहै।ऐसेमेंउनकोउसनाराइसमिलोंमेंहीभेजाजाताहै।

सरकारइससाल105लाखमीट्रिकटनधानलेरहीहै।अनुमानहैकिइससे71लाखमीट्रिकटनचावलबनेगा।राज्यमेंसरकारीराशनदुकानोंकेलिएसालाना24लाखमीट्रिकटनचावललगताहै।यहभारतीयखाद्यनिगममेंजमाहोताहै।अबसरकार23लाखटनउसनाचावलकोभीकेन्द्रीयपूलमेंलिएजानेकाअनुरोधकररहीहै।