‘मन की बात’ के अनुभव मुझे प्रेरित करते हैं, ऊर्जा से भर देते हैं: मोदी

नयीदिल्ली,31जनवरी(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीनेरविवारकोकहाकिआकाशवाणीपरप्रसारितहोनेवालेउनकेमासिकरेडियोकार्यक्रम‘मनकीबात’सेउन्हेंबहुतकुछसीखनेकोमिलताहैऔरइसकेजरिएलोगोंकीओरसेसाझाकिएगएअनुभवउन्हेंबहुतप्रेरितकरतेहैंवऊर्जासेभरदेतेहैं।‘मनकीबात’कोलेकरअक्सरविपक्षीदलप्रधानमंत्रीकीआलोचनाकरतेरहेहैं।उनकाआरोपहैकिइसकार्यक्रमकेजरिएमोदीअपनेमनकीबाततोकरतेहैंलेकिनजनताकीबातनहींसुनते।इनआलोचनाओंकाजवाबप्रधानमंत्रीनेआजअपने‘मनकीबात’कार्यक्रमकीताजाकड़ीमेंकुछइसप्रकारदिया।उन्होंनेकहा,‘‘’मनकीबात’मेंश्रोताओंकोक्यापसंदआताहै,येआपहीबेहतरजानतेहैं।लेकिनमुझे‘मनकीबात’मेंसबसेअच्छायेलगताहैकिमुझेबहुतकुछजानने-सीखनेऔरपढ़नेकोमिलताहै।’’उन्होंनेआगेकहा,‘‘एकप्रकारसे...परोक्षरूपसेआपसबसेजुड़नेकाअवसरमिलताहै।किसीकाप्रयास,किसीकाजज्बा,किसीकादेशकेलिएकुछकरगुजरजानेकाजुनून,यहसबमुझेबहुतप्रेरितकरतेहैंऔरऊर्जासेभरदेतेहैं।इसक्रममेंप्रधानमंत्रीनेहैदराबादकेबोयिनपल्लीमेंएकस्थानीयसब्जीमंडीमेंखराबहोजानेवालीसब्जियोंसे500यूनिटबिजलीउत्पादनकरने,हरियाणाकेपंचकुलाकीबड़ौतपंचायतमेंगंदेपानीकोफिल्टरकरसिंचाईमेंइस्तेमालकरनेऔरपूर्वोत्तरकेराज्यअरुणाचलप्रदेशकेतवांगमें‘‘मोनशुगु’’नामकापेपरबनाएजानेकीकलाकोपुनर्जीवितकरनेकेएकस्थानीयसामाजिककार्यकर्ताकेप्रयासोंकीप्रेरककहानियोंकाविवरणभीदिया।इसीप्रकारउन्होंनेकेरलकेकोट्टयममेंलकवेसेग्रसितबुजुर्गएनएसराजप्पनकीस्वच्छताकेप्रतिसमपर्णकीकहानीभीसुनाई।उन्होंनेबतायाकिराजप्पनबुजुर्गऔरदिव्यांगहोनेकेबावजूदपिछलेकईसालोंसेनावसेस्थानीयवेम्बनाडझीलमेंजातेहैंऔरझीलमेंफेंकीगईप्लास्टिककीबोतलेंबाहरनिकालकरकेलेआतेहैं।उन्होंनेकहा,‘‘सोचिये,राजप्पनजीकीसोचकितनीऊंचीहै।हमेंभीराजप्पनजीसेप्रेरणालेकरस्वच्छताकेलिएजहांसंभवहोअपनायोगदानदेनाचाहिए।’’प्रधानमंत्रीनेअमेरिकाकेसैनफ्रांसिसकोसेबिनाकहींरूकेभारतकेबैंगलुरूतकपहुंचनेवालेविमानकीकमानसंभालनेवालीचारभारतीयमहिलापायलटोंकाभीउल्लेखकिया।साथहीइसकड़ीमेंउन्होंनेजबलपुरकेचिचगांवमेंदिहाड़ीपरएकचावलमिलमेंकामकरनेवालीआदिवासीमहिलाओंकीप्रेरककहानीभीसुनाई।उन्होंनेबतायाकिकैसेमिलकाकामरूकजानेकेबादइनमहिलाओंनेहारनहींमानीऔरस्वसहायतासमूहबनाकरउसीचावलमिलकोखरीदलिया।उन्होंनेकहा,‘‘क्षेत्रकोईभीहो,देशकीमहिलाओंकीभागीदारीलगातारबढ़रहीहै।’’उन्होंनेकहाकिकोरोनामहामारीनेदेशकेलोगोंकेसामनेजोपरिस्थितियांबनाईं,उससेमुकाबलेकेलिएकोने-कोनेमेंअद्भुतकामहुएहैं।उन्होंनेबुंदेलखंडकेझांसीमेंस्ट्रॉबेरीकीखेतीकेप्रतिलोगोंकीपहलकाभीउल्लेखकिया।ज्ञातहोकिपिछलेदिनोंतमिलनाडुकेदौरेपरपूर्वकांग्रेसअध्यक्षराहुलगांधीने‘‘मनकीबात’’कार्यक्रमकोलेकरपरोक्षरूपसेप्रधानमंत्रीपरहमलाकियाथा।उन्होंनेएकसभामेंकहाथाकितमिलनाडुकाउनकादौरालोगोंकोअपने‘‘मनकीबात’’कहनेकेलिएनहींहैयाउन्हेंसलाहदेनेयाउन्हेंक्याकरनाचाहिए,इसबारेमेंबतानेकेलिएनहींहैबल्किउनकीबातसुननेकेलिएहै,उनकीसमस्याएंसमझनेऔरउनकासमाधानकरनेकेलिएहै।कांग्रेसऔरअन्यविपक्षीदलोंकेनेता‘‘मनकीबात’’कार्यक्रमकोलेकरपूर्वमेंभीइसप्रकारकेतंजकसतेरहेहैं।