महात्मा ज्योतिबाफुले स्टेडियम से अंतरराष्ट्रीय स्तर तक चमकी हाकी

गौरवडुडेजा,इटावा

महात्माज्योतिबाफुलेस्टेडियमइटावाकोहाकीकीनर्सरीकहेंतोअतिश्योक्तिनहोगी।यहांसेनिकलेचारखिलाड़ीराष्ट्रीयऔरअंतरराष्ट्रीयक्षितिजपरचमकबिखेरचुकेहैं।इनसेप्रेरितहोकर45बच्चेहाकीसेजुड़रहेहैं।पहलेबच्चेशहरकेराजकीयइंटरकालेजवपुलिसलाइंसग्राउंडमेंअभ्यासकरतेथेलेकिनवर्ष1995मेंपूर्वमुख्यमंत्रीमायावतीनेइसस्टेडियमकीसौगातदी।वहीं,वर्ष2016मेंअखिलेशसरकारमेंस्टेडियममेंहाकीकीएस्टोटर्फ(विशेषघासकीकारपेट)बिछाईगई,जिससेखिलाड़ियोंकोआधुनिकमैदानपरप्रतिभानिखारनेकामौकामिला।हाकीकेजादूगरमेजरध्यानचंदकेजन्मदिवसयानीखेलदिवसपरआपकोइसकीखासियतसेरूबरूकरातेहैं।

शहरकेइस्लामियाइंटरकालेज,एसडीइंटरकालेज,राजकीयइंटरकालेजसहितअन्यस्कूलोंकेबच्चेबड़ीसंख्यामेंरोजानास्टेडियममेंपहुंचतेहैं।जिलाओलंपिकसंघकेअध्यक्षगुरुमुखसिंहअरोड़ाकाकहनाहैकि14वर्षसेकमउम्रकेबच्चोंमेंहाकीकेप्रतिखासाक्रेजहै।उसकाप्रमुखकारणशहरकेतीनखिलाड़ियोंकाभारतीयटीममेंचयनहोनाहै।जिलाहाकीसंघकेअवैतनिकसचिवबजरंगसक्सेनाकाकहनाहैकिहाकीकेलगातारटूर्नामेंटहोनेवटीमोंकेराष्ट्रीयस्तरपरप्रतिभागकरनेसेयहांहाकीकेप्रतिबच्चोंमेंदीवानगीहै।अबतोस्टेडियममें12-13लड़कियाभीआरहींहैं।पूर्वजिलाधिकारीपीगुरुप्रसादनेहाकीकोप्रोत्साहितकरतेहुएनुमाइशकमेटीसेकईबारधनदिलवायाथा।

इन्होंनेबनाईविशिष्टपहचान,बनेप्रेरणास्त्रोत

इसीमैदानसेनिकलेशकीलअहमदभारतीयटीमकेकप्तानवगोलकीपररहेहैं।देवेशचौहानओलिंपियनरहेजबकिविवेकगुप्तानेभीभारतीयटीममेंजगहबनाईथी।एकअन्यखिलाड़ीअरविंदयादवनेभीराष्ट्रीयस्तरपरप्रतियोगिताएंखेलीं।यहखिलाड़ीबच्चोंकेप्रेरणास्त्रोतबनेहैं।

वर्तमानमेंदोकोचहैं

स्टेडियममेंखेलविभागनेहाकीकेदोकोचनियुक्तकिएहैं।उपक्रीड़ाधिकारीजेजेअख्तरअभीहालहीमेंलखनऊसेस्थानातरितहोकरआएहैंजबकिपरमजीतसिंहपूर्वसेहीखिलाड़ियोंकोप्रशिक्षणदेरहेहैं।सैफईमेंभीखेलछात्रावासकेजरिएहाकीकाप्रशिक्षणदियाजाताहै।यहाकोचराजेशसोनकरहैं।

इससमय45खिलाड़ीप्रशिक्षणलेरहेहैं।यहांसेकईखिलाड़ीराष्ट्रीयवअंतरराष्ट्रीयस्तरपरचमके।यहांज्यादासेज्यादाप्रतियोगिताएंकराईजाएंगी।साथहीबाहरकीप्रतियोगिताएंमेंजानेकेलिएखिलाड़ियोंकीहरसंभवमददकरेंगे।

नरेशचंदयादव,जिलाक्रीड़ाधिकारी

तीनवर्षसेहाकीखेलरहींहूं।व्यवस्थाएंअच्छीहोनेसेलगावबढ़ा।आगेहाकीमेंहीकरियरबनानाचाहतीहूं।

अंजलीवर्मा,सिविललाइंसदोसालपहलेसहेलियोंकोहाकीखेलतेदेखकरियरबनानेकाभावमनमेंआया।रोजानाअभ्यासकरनेस्टेडियमआतीहूं।

शिवाशीवर्मा,सिविललाइंसपिछलेदोवर्षसेहाकीखेलरहाहूं।स्टेडियममेंपर्याप्तसुविधाएंहैं।आगेनेशनलटीममेंखेलनाचाहताहूं।

अभयसिंह,सरायदयानततीनवर्षसेहाकीकीबारीकियांसीखरहाहूं।बचपनसेहीहाकीप्रियथीइसलिएरोजानायहाखेलनेआताहूं।

रविंद्रपटेल,पुरबियाटोला