महागौरी का पूजन कर भक्तों ने टेका मत्था

जागरणसंवाददाता,उरई:नवरात्रकेआठवेंदिनभक्तोंनेअष्टमीपरमांमहागौरीकापूजनकिया।श्रद्धालुओंनेदेवीकेदरबारमेंमत्थाटेककरधनधान्यदेनेकीकामनाकी।सभीमंदिरोंमेंदर्शनार्थियोंकीभीड़रही।लोगोंनेकन्याभोजकाआयोजनकिया।घरोंमेंभीविधिविधानसेपूजापाठकरभजनकीर्तनकिएगए।

अष्टमीपरसुबहजल्दीहीभक्तोंकीभी़ड़मंदिरोंकीतरफजातीदेखीगई।दिनचढ़नेतकहीमंदिरपरिसरभक्तोंकीभीड़सेभरगए।हालांकिदर्शनशारीरिकदूरीकोध्यानमेंरखकरहीकरवाएगए।भक्तोंनेदेवीकेचरणोंमेंपान,सुपारी,ध्वजा,नारियलवनौवेद्यअर्पितकरधनधान्यदेनेकीप्रार्थनाकी।शहरकेहुल्कीमातामंदिर,संकटामातामंदिर,शीतलामातामंदिर,बड़ीमातामंदिरमेंबड़ीसंख्यामेंदर्शनार्थीपहुंचे।विधिविधानसेपूजापाठकरदेवीदरबारमेंमत्थाटेका।बहुतसेभक्तोंनेअपनेबच्चोंकामुंडनसंस्कारभीकरवाया।भक्तोंनेकन्याभोजकरप्रसादकावितरणकिया।घरोंमेंभीभक्तिभावसेदेवीकीपूजापाठकीगई।महिलाओंनेभजनकीर्तनकिए।जवारेलेकरपहुंचेश्रद्धालु:

ग्रामीणक्षेत्रमेंकईजगहसुबहसेशामतकअष्टमीकेपर्वपरमंदिरोंमेंश्रद्धालुजवारेलेकरमांकेजयकारेलगातेहुएपहुंचे।जवारेचढ़ानेकेबादश्रद्धालुओंनेमंदिरपरिसरमेंहीकन्याभोजकाआयोजनकराया।इसकेबादलोगोंकोप्रसादवितरणकिया।सबारबनरहेमेघनाथवरावणके15फुटकेपुतलेसंवादसहयोगी,कोंच:इसवर्षदशहरामैदानपर40फुटकेस्थानपर15फुटऊंचाईकेरावणमेघनाथकेपुतलेबनरहेहै।कारीगरइनपुतलोंकोअंतिमरूपदेनेमेंलगेहुएहैं।

नगरकीबलदाऊधर्मशालापरिसरमेंइनदिनोंरावणमेघनाथकेपुतलोंकोअंतिमरूपदियाजारहाहै।बीतेवर्षोंकीभांतिइसवर्षभीरावणमेघनाथकेपुतलेमुस्लिमकारीगरबहीदमकरानी,मुकीम,वसीम,नसीम,कलूकेद्वारातैयारकिएजारहेहैं।बसफर्कइतनाहैकिपहलेयहकारीगरइनपुतलोंकीऊंचाई40फुटरखाकरतेथेलेकिनअब15फुटऊंचाईकेपुतलेबनारहेहैं।कारीगरोंकाकहनाहैकिवहइनपुतलोंकोकईवर्षोंसेतैयारकरतेआरहेहैं।पहलेउनकेदादाफिरपिताऔरअबवहबनारहेहैं।अपनेपुत्रोंकोभीपुतलेबनानासिखारहेहैं।उन्हेंजोनहींपरिश्रमरामलीलासमितिकीओरसेदियाजाताहैवहउसेपुनीतकार्यसमझकररखलेतेहैं।कभीभीकोईकीमततयपुतलेबनानेकीउनकेखानदानवालोंनेनहींकी।उन्हेंखुशीहैकियहकार्यउनकेहाथोंसेसंपन्नहोरहाहै।