मेंटेनेंस चार्ज देने के बाद भी उद्योगपतियों को नहीं मिल रही सड़क की बेहतर सुविधा

संवादसहयोगी,राई:राईकेउद्योगपतिसड़कजैसीमूलभूतसुविधाओंकेलिएभीतरसरहेहैं।हालतयहहैकिऔद्योगिकक्षेत्रमेंप्रवेशकरतेहीबड़े-बड़ेगड्ढेवाहनोंकास्वागतकरतेहैं।इसकेकारणउद्योगपतियोंकोमालढुलाईमेंकाफीपरेशानीआतीहै।उद्योगपतियोंनेइससंबंधमेंकईबारएचएसआइआइडीसी(हरियाणाराज्यऔद्योगिकसंरचनाविकासनिगम)सेबातकी,लेकिनउन्हेंहरबारआश्वासनकेसिवायकुछनहींमिलता।अबउद्योगपतिएचएसआइआइडीसीपरविकासकेनामपरगुमराहकरनेकाआरोपलगारहेहैं।

राईऔद्योगिकक्षेत्रविकासकेमामलेमेंपिछड़ताजारहाहै।यहांसबसेबड़ीसमस्यासड़कोंकीहै।सड़कोंमेंगहरेगड्ढेबननेसेयहांके1600सेअधिकउद्योगपतिपरेशानहैं।यहहालततबहैजबयहांकेउद्योगपतिकरोड़ोंकाराजस्वसरकारकोदेरहेहैं।वेमेंटेनेंसचार्जदेनेकेबावजूदसड़ककीसुविधासेवंचितहैं।एचएसआइआइडीसीकोपत्रलिखकरथकचुकेहैं,लेकिनहरबारउन्हेंयहीआश्वासनमिलताहैकिएस्टीमेटबनगएहैं।जल्दकामशुरूहोगा।

जीटीरोडसेराईऔद्योगिकक्षेत्रमेंप्रवेशकरतेहीयहांकीसड़कोंकाबुराहालदेखनेकोमिलताहै।मालढुलाईकेलिएजोवाहनयहांआतेहैं,कईबारतोवेगड्ढोंमेंजमागंदेपानीमेंफंसरहेहैं।उद्योगपतियोंकाकहनाहैकिउद्योगलगानेकेबादउन्हेंसुविधाओंकेनामपरकेवलधोखामिलरहाहै।औद्योगिकक्षेत्रमेंसड़कोंकीहालतजर्जरहै।इनमेंगहरेगड्ढेहोगएहैं।इससमस्यासेसभीउद्योगपतिपरेशानहैं।हमारीएसोसिएशनइसविषयपरकईबारशिकायतकरचुकीहै।हरबारएस्टीमेटबननेकीसूचनादीजातीहै।हकीकतमेंजबकामशुरूपाएगा,तभीराहतमिलेगी।सड़कोंमेंगड्ढोंकेकारणमालढुलाईमेंपरेशानीआरहीहै।

-राकेशदेवगन,प्रधान,राईऔद्योगिकएसोसिएशनएचएसआइआइडीसीमेंपैसेकादुरुपयोगहोरहाहै।जबउद्योगपतिसमयपरमेंटेनेंसकापैसादेरहेहैंतोउन्हेंसुविधाएंभीसमयपरमिलनीचाहिए।एमडीकोएकबारऔद्योगिकक्षेत्रकादौराकरनाचाहिए।उन्हेंजमीनीहकीकतकापताचलजाएगा।यहांजोप्लॉटखालीहै,वेकेवलसड़कवसीवरेजसमस्याकीवजहसेहीखालीपड़ीहैं।इनसमस्याओंकोदेखतेहुएनएउद्योगपतियहांनहींआरहेहैं।

-रमेशकुमार,उद्योगपति,राई