#MenToo: पुरुषों के लिए समानता की लड़ाई

महुआदास,मुंबईएकयोगाग्रुपकेसदस्यऋषि(बदलानाम)कोरविवारसुबहएकस्टूडियोमेंमैटऔरअन्यचीजेंलगानेकेलिएजल्दीआनाथा।ऋषिकोअपनेचेंबूरस्थितघरसेमलाडस्थितस्टूडियोपहुंचनेकेलिएलंबीदूरीतयकरकेआनाहोता।हालांकिलिव-इनमेंरहनेवालेयोगकेपेशेसेजुड़ेएकजोड़ेलीनाऔरकरननेऋषिकोशनिवाररातअपनेघरठहरनेकोकहाताकिरविवारसुबहवहअपनाकामआसानीसेकरसके।शनिवारकोकरनघरपरनहींथाऔरलीनाऋषिकीतरफआकर्षितहोगई।ऋषिऔरलीनाआपसीसहमतिसेसंबंधबनानेकोसहमतहोगएजोमहीनोंतकचला।ऋषिकोलगायहरिश्ताकिसीसहीमोड़परनहींजारहातोउसनेकिसीदूसरीलड़कीसेशादीकरनेकीसोची।वहइसलड़कीसेपहलेमिलचुकाथा।तभीलीनानेऋषिपररेपकेआरोपलगादिए।ऋषि(30)कोगिरफ्तारकरलियागयाऔरउसेएकसप्ताहजेलमेंबितानेपड़े।कोर्टमेंयहमामलाकरीबतीनसालचलाऔरफरवरी2018मेंउसेइसमामलेमेंबरीकरदियागया।लेकिनऋषिकीजिंदगीबिखरगई।उसनेअपनीनौकरी,दोस्तऔरदुनियाकासामनाकरनेकाहौसलासबगंवादिया।पुरुषोंकेअधिकारकीरक्षाकेलिएबनाएगएवास्तवफाउंडेशनकेअमितदेशपांडेनेबताया,'वहकरीबएकसालपहलेमेरेपासआयाथा।तबहमनेकाउंसलिंगकेजरिएउसेभावनात्मकमजबूतीदी।'देशपांडेने2014मेंइसफाउंडेशनकीस्थापनातबकीथीजबवहघेरलूहिंसाकेझूठेआरोपकेखिलाफलड़करजीतेथे।इसतरहकेअधिकारझूठेकेसदहेजप्रताड़नाऔरघेरलूहिंसाकेहोतेहैं।लेकिनअबसहमतिसेसंबंधबनानेकेमामलेमेंभीरेपकेआरोपलगाएजानेलगेहैं।देशपांडेनेकहा,'अधिकतरमामलेमेंयेकेसउगाहीकाजरियाबनगएहैं।रेपकेसकेमामलोंमें74%लोगबरीहोजातेहैं।लेकिनरेपकेआरोपकेकारणएकपुरुषकीप्रतिष्ठातार-तारहोजातीहै।एकबारजबइसतरहकेमामलेदर्जहोजातेहैंतोएकपुरुषकोहरस्तरपरचाहेपुलिस,न्यायपालिका,मीडिया,दोस्त,परिवारसंदेहकीनजरसेदेखाजाताहै।यहकेवलमिथकहैकिमहिलाएंपुरुषोंकोप्रताड़ितनहींकरतीहैं।अगरहमेंसमानअधिकारकेलिएकामकरनाहैतोहमेंपुरुषोंकेलीगलरिकोर्सकेलिएभीकामकरनाहोगा।जबतकऐसेमामलोंमेंअपराधसाबितनहोजाएशिकायतकर्ताऔरसिस्टमद्वाराआरोपीकीपहचानगुप्तरखीजाए।ऐसानहींकरनेपरजुर्मानेकाप्रावधानहोनाचाहिए।