मेडिक्लेम कंपनियां बिल का 40% तक काट रही, अस्पताल क्लेम के बावजूद ले रहे 50 हजार तक का सिक्योरिटी डिपॉजिट

मेडिक्लेमकेबावजूदकोरोनामरीजोंकोशहरकेअधिकतरअस्पतालोंमेंकैशलेसकीसुविधानहींमिलपारहीहै।कंपनियांक्लेमअमाउंटसे40फीसदीकाटकरपैसादेरहीहैंतोअस्पतालभी50हजाररुपएतककासिक्याेरिटीडिपाॅजिटलेनेकेबादहीएडमिटकररहेहैं।आंकड़ोंकोदेखेंतोइंदौरमें2020-21मेंमेडिक्लेमपॉलिसीपरलोगोंने213करोड़काप्रीमियमचुकायाहै।यहराशिपिछलेसालकीअपेक्षा29करोड़रुपएज्यादाहै।इसकेअलावाशहरमें1.20लाखकोरोनाकवचऔरकोरोनारक्षकपॉलिसीलीगईहैं।येपॉलिसियांसाढ़े3,साढ़े4औरसाढ़े9महीनेकीहीथीं।इंश्योरेंसएक्सपर्टमुकेशत्रिवेदीकेमुताबिककुछइंश्योरेंसकंपनियांइरडाकेनिर्देशकेबादभीइसेआगेनहींबढ़ारहीहैं।

बहानेक्लेमकटौतीके

केस-1तीनलाखरुपएकाबिल,दिएढाईलाख

10दिनतकभंडारीअस्पतालमेंभर्तीरहेरमेशकुमारनेबतायाकि3लाखरुपएकाबिलबनाथा,लेकिनकंपनीने2.5लाखहीदिए।कंपनीकाकहनाथाकिआपकोजरूरतसेज्यादादिनभर्तीरखागया।

केस-2पीपीईकिट,दवाईकेनहींमिले60हजार

महेशहिरवानीनेबतायाकिउनकेमम्मी-पापा5दिनभर्तीरहेथे।कुल3लाखबिलबना,कंपनीने2लाख40हजारहीदिए।60हजाररुपएयहकहकरकाटेकीदवाइयोंकेपैसेबिलमेंज्यादालगादिएहैं।

कैशलेसकापूछातोजवाबमिला-डिपाॅजिटतोकरनापड़ेगा

एप्पलहॉस्पिटल-एडमिटहोनेसेपहलेसिक्योरिटीडिपॉजिटकरानाहोगा।बाकीपैसाकंपनीसेसेटलकरादेंगे।

यूनिकहॉस्पिटल-अभीनहींबतासकते।एडमिटहोतेसमयकागजदेखकरबताएंगे।

सीएचएलहॉस्पिटल-प्राइवेटरूममेंएडमिटहोनेपर20हजारऔरआईसीयूमेंएडमिटहोनेपर40हज़ारजमाकरनाहोगा।बाकीजोबिलबनेगावहमेडिक्लेमकंपनीकेअनुसारकैशलेसहोजाएगा।

ग्रेटरकैलाशहॉस्पिटल-50हजारसिक्योरिटीडिपॉजिटजमाकरनेहोंगे।उसकेबादहीएडमिटकरपाएंगे।बाकीपैसाकंपनीसेजितनामिलेगाउसहिसाबसेआपकोलौटादेंगे।

डीएनएसहॉस्पिटल-अभीहमारेपाससिर्फएककंपनीसेहीकैशलेसकीव्यवस्थाहै।

चोइथरामहॉस्पिटल-अभीकुछनहींकहसकतेभर्तीहोतेसमयहीदेखेंगे।

(भास्करटीमद्वाराअस्पतालोंकेरिसेप्शनपरकीगईबातचीतकेआधारपर)

अस्पतालसंचालकबोले-घरमेंफिसलनेवालोंकीभीएमएलसीमांगरहे

सिनर्जीहॉस्पिटलसंचालकडॉ.सुबोधजैनकेमुताबिक80%मरीजमेडिक्लेमकेआतेहैं।कंपनियांअप्रूवलमेंघंटोंलगारहीहैं।यदिमरीजकोशुगरहैतोउसकेक्लेममेंभीपरेशानीआतीहै।कुछकंपनियांतोपीपीईकिटकाभीनहींदेतीं।बाफनाहाॅस्पिटलकेसंचालकडॉ.अनिलबाफनाकेमुताबिककईबारक्लेमका40प्रतिशततककाटदेतेहैं।जोघरमेंगिराउससेभीएमएलसीमांगतेहैं।यहांतककिप्रोसेसमेंही3से4महीनेनिकालदेतेहैं।

(सीधीबात;एस.सी.खुंटिया,चेयरमैन,आईआरडीए)

अस्पतालकैशलेससुविधासेइनकारनहींकरसकते

कैशलेससुविधाबंदहोगईहै?

हमारेपासजिनकीशिकायतआरहीहै,उनपरनियमानुसारकार्रवाईकीजारहीहै।अस्पतालोंकोकैशलेससुविधादेनाचाहिए।

पॉलिसियांबढ़ाईनहींजारहीं?

कोईस्कीमखत्मनहींकीहै।सितंबरतककाएक्सटेंशनदियाहै।इसमेंकोरोनाकवचऔरकोराेनारक्षकदोनोंहीशामिलहै।

अबतकक्याकार्रवाईकी?

अभीनहींबतासकते।हमकोविडवैक्सिनकेलिएपॉलिसीहोल्डरकोप्रेरितकररहेहैं।इसकेलिएसारीइंश्योरेंसएजेंसीकोकहागयाहै।